पुलिस के हटते ही वाहन चालकों ने कर्मचारी को पीटा, मामला दर्ज

Smart News Team, Last updated: 22/02/2021 09:00 PM IST
  • दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे तैनात ट्रैफिक पुलिस के हटते ही वहां मौजूद कर्मचारियों को वाहन चालकों ने पीट दिया. बता दें, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर फिलहाल निर्माण कार्य चल रहा है, 10 मार्च तक इस काम को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है.
पुलिस के हटते ही वाहन चालकों ने कर्मचारी को पीटा, मामला दर्ज (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मेरठ: दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे फिलहाल निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है. रविवार को जीआर इंफ्रा ने डासना से लेकर परतापुर तिराहे तक एक्सप्रेस वे वाहनों की आवाजाही को पूरी तरह से बंद कर दिया. जिसके तहत डासना, पैरिफेरल एक्सप्रेस वे और परतापुर तिराहे पर रोड पर बैरियर लगा कर ट्रैफिक पुलिस तैनात कर दी थी, लेकिन ट्रैफिक पुलिस के हटते ही वाहन चालकों ने वहां मौजूद कर्मचारियों को पीट दिया.

जिसके बाद बैरियर हटाकर आवाजाही शुरू कर दी. बता दें, मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस वे का काम 10 मार्च तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. क्योंकि मार्च में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्सप्रेसवे का लोकापर्ण करेंगे. इसके तहत शनिवार को एनएचएआई और जीआर इंफ्रा प्रोजेक्ट लिमिटेड के अधिकारियों ने एक्सप्रेस वे का निरीक्षण किया था.

मेरठ में प्रेम विवाह करने के ढाई साल बाद गांव आए युवक का हुआ ऐलानिया कत्ल

इस कड़ी में जीआर इंफ्रा प्रोजेक्ट लिमिटेड के डिप्टी प्रोजेक्ट मैनेजर मनोज बैरवा ने ट्रैफिक पुलिस को लगाकर एक्सप्रेस वे पर वाहनों की आवाजाही रोक दी थी. दो घंटे तक एक्सप्रेस वे पर आवाजाही बंद होने से वाहनों की लंबी लाइन लग गई. जिस दौरान वाहन चालकों की पुलिस और कंपनी के कर्मचारियों से तीखी झड़प हो गई. पुलिस के हटते ही वाहन चालकों ने बैरियर हटाना शुरू कर दिया. कर्मचारियों द्वारा विरोध जताने पर वाहन चालकों ने उन्हें भी पीट दिया और वाहन लेकर चले गए.

इस मामले में जीआर इंफ्रा के डिप्टी प्रोजेक्ट मैनेजर मनोज बैरवा का कहना है की वाहनों की आवाजाही के चलते कार्य करना मुश्किल हो रहा है. जिसके लिए अधिकारियों से वार्ता की गई थी. जिसके बाद अधिकारियों ने परतापुर तिराहे से लेकर डासना तक ट्रैफिक पुलिस तैनात की थी.

सीएम ने दिए निर्देश, 6.65 करोड़ की लागत से पुल व पुलियों का होगा कायाकल्प

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें