मेरठ: फर्जी ट्रस्ट बनाकर राम मंदिर निर्माण के नाम पर हो रही थी ठगी, एक अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: 05/09/2020 12:03 PM IST
  • अयोध्या में हो रहे राम मंदिर निर्माण के लिए मेरठ में फर्जी ट्र्स्ट बनाकर लोगों से चंदा वसूल किया जा रहा था. विहिप कार्यकर्ताओं की शिकायत पर पुलिस ने जांच की. ट्रस्ट के अध्यक्ष को गिरफ्तार कर लिया गया है. 
प्रतीकात्मक तस्वीर

मेरठ: शहर में श्रीराम तीर्थ ट्रस्ट बनाकर अयोध्या में मंदिर निर्माण के नाम पर फर्जी चंदा वसूल करने का मामला सामने आया है. विहिप की शिकायत पर मेडिकल पुलिस ने धोखाधड़ी कर रहे ट्रस्ट के कार्यालय को बंद करा दिया है. ट्रस्ट के अध्यक्ष नरेन्द्र राणा को गिरफ्तार कर लिया गया है. विहिप ने स्पष्ट किया है कि अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए विहिप की ओर से फिलहाल किसी तरह का चंदा नहीं लिया जा रहा है.

जानकारी के मुताबिक विश्व हिन्दू परिषद के महानगर संयोजक अर्जुन राठी, महानगर मंत्री निमेष वशिष्ठ ने बताया कि गढ़ रोड स्थित गांव जिठौली में मंदिर से कुछ लोगों ने यह एनाउंसमेंट कराया कि वे अयोध्या मंदिर निर्माण के लिए चंदा इकट्ठा कर रहे हैं. वह शनिवार को चंदा लेने के लिए आएंगे. विहिप पदाधिकारियों ने बताया कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने खाता संख्या जारी कर रखा है. उसी खाते में मंदिर निर्माण सहयोग राशि ली जा रही है. इसके अलावा चंदा वसूली का कोई आदेश या अधिकार नहीं है और न ही कोई व्यक्तिगत तौर से चंदा वसूल सकता. 

मेरठ: 5 वकीलों में कोरोना की पुष्टि, शनिवार को बंद रहेगी कचहरी, होगी सैनेटाइज

जिसके बाद विहिप, बजरंग दल के दर्जनों कार्यकर्ता गांव जिठौली में मंदिर पर पहुंचे. उन्होंने एनाउंसमेंट करने वालों की जानकारी ली. इसके बाद श्रीराम तीर्थ ट्रस्ट के जागृति विहार स्थित कार्यालय पर पहुंचे. यहां ट्रस्ट अध्यक्ष नरेंद्र राणा मिला. यह चंदा इकट्ठा किसके आदेश पर लिया जा रहा है, वह इसकी जानकारी नहीं दे पाया. विहिप पदाधिकारियों की सूचना पर मेडिकल थाना पुलिस ने आकर ट्रस्ट के दफ्तर को बंद करा दिया और नरेंद्र को पूछताछ के लिए थाने पर ले गई.

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें