किसानों ने जमीन मुआवजे को ले भैंसा-बुग्गी चला रोका दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे काम

Smart News Team, Last updated: 02/10/2020 04:57 PM IST
प्रदर्शन कर रहें किसानों ने कहा कि प्रशासन मुआवजे को लेकर गंभीर नहीं है किसानों को केवल आश्वासन दे दिया जाता है. लेकिन अब आश्वासन देने से कोई काम नहीं चलने वाला. इससे पहले भी किसान अर्धनग्न होकर अपनी मांग को रख चुके हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं की जा रही.
भैंसा बुग्गी से मुआवजे के लिए प्रदर्शन करते किसान. 

मेरठ. शुक्रवार को किसानों ने गांधी जयंती के अवसर पर मुरादाबाद भोजपुर गांव के किसानों ने भैंसा बुग्गी चलाकर मेरठ एक्सप्रेसवे के चल रहे काम को रोक दिया. किसानों की मांग है मुआवजे को लेकर है. किसानों का कहना है कि सरकार उन्हें केवल आश्वासन देकर छोड़ देती है उसके बाद जमीनी स्तर पर कोई काम नहीं किया जाता. किसानों ने कहा कि जब तक एक समान मुआवजे पर फैसला नहीं होगा तब तक हम मेरठ एक्सप्रेसवे का काम शुरु नहीं होने देंगे. किसान गाजियाबाद विकास प्राधिकरण से लगातार मुआवजे की मांग कर रहे हैं. 

मुआवजे की मांग कर रहे किसान एक्सप्रेस-वे पर भैंसा बुग्गी दौड़ाकर चल रहे काम रोक दिया. एक्सप्रेस-वे के निर्माण एजेंसी के सभी वाहनों को किनारे कर दिया गया और जिसके बाद किसान भैंसा बुग्गी लेकर वहां दौड़ लगाते रहे. प्रदर्शन कर रहें किसानों ने कहा कि प्रशासन मुआवजे को लेकर गंभीर नहीं है किसानों को केवल आश्वासन दे दिया जाता है. लेकिन अब आश्वासन देने से कोई काम नहीं चलने वाला. अब उन्हें मुआवजा हर हाल में चाहिए और वह मुआवजा लेकर ही रहेंगे. इसके लिए चाहे हमें कुछ भी करना पड़े.

मेरठ: जिले में 29 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित, 27 विभाग करेंगे पौधारोपण

जानकारी मिल रही है कि किसान पिछले 1 महीने गाजियाबाद विकास प्राधिकरण द्वारा केवल आश्वासन दिया जा रहा है. किसान प्रदर्शन का नेतृत्व सतीश राठी और बबली गुर्जर कर रहे थे उनके साथ कुछ अन्य किसान भी थे. इससे पहले भी किसान अर्धनग्न होकर अपनी मांग को रख चुके हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं की जा रही.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें