BKU किसान नेता राकेश टिकैत को फोन पर मिली जान से मारने की धमकी, केस दर्ज

Shubham Bajpai, Last updated: Sun, 5th Dec 2021, 6:10 PM IST
  • किसान नेता राकेश टिकैत को जान से मारने की धमकी मिली है. यह धमकी उन्हें फोन के जरिए दी गई. फोन टिकैत की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मी ने उठाया था. जिसके बाद उसकी तहरीर पर पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है.
किसान नेता राकेश टिकैत को मिली जान से मारने की धमकी, पुलिस ने दर्ज किया मामला

मेरठ. तीन कृषि कानून के बाद अब एमएसपी कानून की मांगों को लेकर धरने पर बैठे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता व किसान आंदोलन के अगुवा राकेश टिकैत को मोबाइल पर जान से मारने की धमकी मिली. उनकी सुरक्षा में तैनात नितिन ने फोन उठाया था, जिसमें अभद्रता करते हुए अज्ञात शख्स ने मारने की धमकी दी है. इस मामले में सुरक्षाकर्मी नितिन की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया. पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है.

पुलिस में दर्ज शिकायत के अनुसार, राकेश टिकैत के फोन पर कॉल आई थी, जिसे टिकैत की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मी नितिन ने रिसीव की. कॉल की दूसरी ओर अज्ञात शख्स ने अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए राकेश टिकैत को जान से मारन की धमकी दी. जिसके बाद निति ने कौशांबी थाने में तहरीर देते हुए अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया.

मेरठ में फिर थूक लगाकर रोटी बनाने का मामला, बच्चे ने बनाया वीडियो, आरोपी गिरफ्तार

प्रदर्शन को लेकर मिली धमकी

इस मामले में एसपी सिटी सेकंड ज्ञानेंद्र सिंह का कहना है कि टिकैत को प्रदर्शन को लेकर मारने की धमकी दी गई है. अन्य किसी तरह का कोई रंजिश या विवाद नहीं है. फोन नंबर के आधार पर टीम उसकी लोकेशन पता लगाने की कोशिश कर रही है, लोकेशन पता चलते ही उसको गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

ट्रिपल तलाक की तरह मथुरा-काशी के लिए भी BJP बनाए कानूनः तोगड़िया

पांचवी बार मिली जान से मारने की धमकी

राकेश टिकैत को इससे पहले भी चार बार जान से मारने की धमकी मिल चुकी है. दिसंबर 2020 में उनके मोबाइल पर बिहार के भागलपुर के एक व्यक्ति ने धमकी दी थी, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. इसके बाद अप्रैल में फिरोजबाद के एक युवक ने उनको जान से मारने की धमकी दी थी. मई 2021 में उनको दो बार जान से मारने की धमकी मिल चुकी है. 5 दिसंबर को पांचवी बार उनको धमकी मिली है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें