मेरठ में किसान आंदोलन में शामिल होने जा रहे नेताओं को पुलिस ने घर पर रोका

Smart News Team, Last updated: 12/12/2020 12:49 PM IST
  • मेरठ में कृषि कानून के विरोध में किसान के आंदोलन में शामिल होने जा रहे नेताओं को पुलिस ने घरों में रोक लिया. किसान पिछले 17 दिनों से देशभर में तीन कृषि कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे है.
किसान आंदोलन में शामिल होने जा रहे नेताओं को पुलिस ने रोका ( सांकेतिक फोटो )

मेरठ: किसान आंदोलन में शामिल होने जा रहे नेताओं को पुलिस ने घरों मे रोक लिया. पुलिस ने नेताओ को आंदोलन स्थल पर नहीं जाने दिया. पुलिस द्वारा कुछ नेताओं को फोन करके थाने बुलाया गया. कांग्रेस और प्रगति शील पार्टी ( प्रसपा ) के नेताओं ने आरोप लगाया है कि लोकतंत्र में जनसेवा करने से रोक रही है. बता दें पिछले कुछ दिनों से किसान दिल्ली के बाहरी बार्डर पर ड़टे हुए हैं. किसान केंद्र सरकार द्वारा लागू कृषि कानून का विरोध कर रही है.

शनिवार सुबह कांग्रेस पार्टी के महानगर मेरठ अध्यक्ष ज़ाहिद अंसारी ओर उनके समर्थक को पुलिस ने घर पर ही रोक दिया. जाहिद अंसारी किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए जा रहे थे. वहीं दूसरी ओर पुलिस ने प्रसपा के प्रदेश प्रवक्ता शैंकी वर्मा को फोन करके थाना बुला लिया. शैंकी वर्मा ने आरोप लगाया है कि पुलिस नेताओं को किसान आंदोलन में शामिल होने से रोक रही हैं.

किसान यात्रा निकाल रहे सपा समर्थक पुलिस से भीड़े, नोकझोंक में 48 गिरफ्तार

वही पुलिस ने कांग्रेस सेवादल के प्रदेश सचिव रोहित गुर्जर, पूर्व राज्यमंत्री कुलदीप उज्जवल, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पंडित नवनीत नागर, भारतीय किसान आंदोलन के अध्यक्ष कुलदीप त्यागी, आम आदमी पार्टी के अंकुश चौधरी, अभिषेक द्विवेदी पर लगातार नजर बनाए हुए है.

किसान आंदोलन का 17वां दिन: मेरठ में किसानों ने टोल प्लाजा फ्री कराना किया शुरू

मेरठ: दूसरे राज्यों से ट्रैक्टर चोर गैंग से पुलिस मुठभेड़, एक घायल, 2 अरेस्ट

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें