सोशल मीडिया पर खूबसूरत अनजान युवतियों से जरा रहें बच के, ऐसे बनाती हैं शिकार

Smart News Team, Last updated: Thu, 8th Jul 2021, 9:36 PM IST
  • इन दिनों मेरठ में एक हफ्ते के अंदर करीबन 10 से ज्यादा मामले साइबर सेल में आए हैं. इनमें तीन व्यापारी, दो पुलिसकर्मी, तीन स्टूडेंट समेत 10 लोग शामिल हैं. ज्यादातर लोग ब्लैकमेल होने के बाद भी पुलिस को जानकारी नहीं दी, लेकिन कुछ ने इसके खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है.
सोशल मीडिया का संभल कर करें इस्तेमाल, दोस्त नहीं कुछ ठग भी मिलेंगे

इन दिनों साइबर क्राइम काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है, जिसको देखते हुए अब पुलिस भी काफी चौकनी हो गई है. अक्सर सभी को एक खबर समझाई जाती है कि फेसबुक पर अंजान लड़कियों से दोस्ती करना आपको काफी भारी पड़ सकता है. ऐसी ही एक खबर यूपी के मेरठ से आ रही है. जहां, कुछ ऐसे ही प्रोफाइल दोस्ती के बाद अश्लील चैट के जाल में फंसाकर ब्लैकमेल करने का काम कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि एक हफ्ते में साइबर सैल में दस से ज्यादा शिकायतें दर्ज हो चुकी है. 

शिकायर दर्ज होने के बाद पुलिस जांच में जुटी है, लेकिन अभी तक गैंग के नेटवर्क के बारे में कोई जानकारी सामने नहीं आई है. साइबर ठगों के अपराध की खबरें इतनी बढ़ती जा रही है. साइबर अपराधी लोगों को ठगने के लिए नए-नए पैंतरे आजमाते रहते हैं. अब साइबर ठगों ने खूबसूरत लड़कियों के जरिए फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर दोस्ती करने का जाल फैलाया है. फेसबुक पर सुंदर लड़की की डीपी लगाकर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते हैं. रिक्वेस्ट स्वीकार होते ही मैसेंजर पर लड़कियां मैसेज के जरिए बातचीत करती हैं. 

UP में ब्लॉक प्रमुख नामांकन में मारपीट, हिंसा पर ADG बोले- पहले से कम हुआ है

इसके बाद अश्लील फोटो और मैसेज का भेजने का काम करते हैं और फिर वीडियो तैयार करा ली जाती है. जैसे ही मैसेंजर पर वीडियो बन जाती है, तब से ही ब्लैकमेलिंग का खेल शुरू हो जाता है. बता दें कि एक हफ्ते में 10 से ज्यादा मामले साइबर सेल में आए हैं. इनमें तीन व्यापारी, दो पुलिसकर्मी, तीन स्टूडेंट समेत 10 लोग हैं. ज्यादा तर लोग ब्लैकमेल होने के बाद भी पुलिस को जानकारी नहीं देते. इससे पहले पुलिस ने खुलासा किया था कि यह गैंग राजस्थान का है.

ठगी के लिए लड़कियों का सहारा लिया जाता है. पुलिस इस गैंग के दो लोगों को पकड़ कर जेल भेज चुकी है. इसके बावजूद नेटवर्क नहीं टूटा है. ऐसे में प्रभाकर चौधरी, एसएसपी इस बारे में बात करते हुए कहते हैं कि ऐसे मामले साइबर सेल में आ रहे हैं. इसमें केवल सावधान रहने की जरूरत है. अगर कोई ठगों के जाल में फंस भी गया तो ब्लैकमेल होने के बजाए सीधे पुलिस को जानकारी दें. किसी भी अनजान व्यक्ति से सोशल मीडिया पर दोस्ती न करें.

SSC Result : इस तारीख से एसएससी जारी करेगा रुके हुए रिजल्ट

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें