मेरठवासियों के लिए खुशखबरी, सलावा और कैली गांव की जमीन पर बनेगा खेल यूनिवर्सिटी

Smart News Team, Last updated: Mon, 22nd Feb 2021, 8:19 PM IST
  • मेरठ में खेल विश्वविद्यालय बनाने की घोषणा के बाद सरकार की ओर से 20 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं. जिसके बाद मेरठ सहित पश्चिमी यूपी के इलाकों में खुशी की लहर दौड़ गई है.
मेरठवासियों के लिए खुशखबरी, सलावा और कैली गांव की जमीन पर बनेगा खेल यूनिवर्सिटी

मेरठ: खेल विश्वविद्यालय को लेकर मेरठवासियों के लिए एक अच्छी खबर सामने आ रही है. दरअसल, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मेरठ में खेल विश्वविद्यालय को लेकर 20 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं. जिसके बाद मेरठ सहित पश्चिमी यूपी के इलाकों में खुशी की लहर दौड़ गई है. बता दें, मेरठ में खेल विश्वविद्यालय को लेकर पिछले कई वर्षों से मांग की जा रही थी, हालांकि, अब लोगों का यह सपना साकार हो जाएगा.

बता दें, मेरठ में खेल विश्वविद्यालय बनाने के लिए सरधना क्षेत्र के सलावा एवं कैली गांव की जमीन को चिन्हित किया गया है. यहां पर खेल विश्वविद्यालय के लिए 92 एकड़ जमीन चिन्हित की गई है. जिसका प्रस्ताव प्रदेश सरकार को भेजा गया था. यहां पर 92 एकड़ जमीन में कुछ हिस्सा कैली गांव का है, जबकि अधिकतर जमीन सलावा गांव की ही है.

बहन को भगाकर ले जाने वाले की चाकू से गोदकर भाई ने कर दी हत्या, हुआ गिरफ्तार

वहीं, गौरतलब है कि पिछले दिनों नोएडा के एक निजी स्पोर्ट्स स्टेडियम के उद्घाटन के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहली बार मेरठ में खेल विश्वविद्यालय बनाने की घोषणा खुले मंच पर की थी. इससे पहले ही खेल विश्वविद्यालय के लिए जमीन चिन्हित कर प्रस्ताव मांग लिया गया था. बता दें कि खेल विश्वविद्यालय के लिए 700 करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट बना है. पीडब्ल्यूडी को निर्माण एजेंसी नामित किया गया है लेकिन अभी उसका एस्टीमेट बनाना बाकी है.

मेरठ में खेल विश्वविद्यालय बनाने को लेकर काफी जद्दोजहद की गई थी. इसके लिए जिला एथलेटिक संघ की ओर से हस्ताक्षर अभियान, संदेश अभियान भी चलाए गए थे. इसमें बड़ी संख्या में खेल संगठनों, स्कूल, कॉलेजों व राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों ने अपना योगदान दिया और मेरठ में ही खेल विश्वविद्यालय बनाए जाने को लेकर अपना मत प्रकट किया था.

इंस्पेक्टर पर घूस मांगने का आरोप, ऑडियो वायरल होने के बाद हड़कंप

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें