मेरठ की एक सोसाइटी में लोगों ने चस्पा किए 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर, जानिये वजह

Smart News Team, Last updated: 01/03/2021 08:09 PM IST
  • खुशहाल कॉलोनी में रह रहे लोग अपने घरों पर 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगा रहे हैं। दरअसल, लोगों का आरोप है कि कॉलोनी की कमेटी तालिबानी कानून लगा रही है.
फाइल फोटो

मेरठ. शहर के लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र में स्थित खुशहाल कॉलोनी से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आ रहा है. यहां पर कुछ लोगों ने अपने घर पर पलायन के पोस्टर चस्पा दिए हैं. लोगों ने अपने घर के बाहर 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगा रखे हैं. दरअसल, उनका आरोप है कि सोसायटी तालिबानी सिस्टम लागू कर रही है. शादी समारोह में डीजे या बैंडबाजा तक नहीं बजने दिया जा रहा है. इसलिए लोग यहां से जाने को मजबूर हैं.

दरअसल, 24 फरवरी को हुए घटनाक्रम के अनुसार, कॉलोनी निवासी इस्लामुद्दीन की बेटी की शादी 24 फरवरी की थी. इससे पहले 21 फरवरी को बेटी को हल्दी लगाई जा रही थी. इस दौरान इस्लामुद्दीन के बच्चे ने मकान के सामने डीजे बजाकर डांस कर रहे थे. आरोप है कि कमेटी के कुछ लोग इस्लामुद्दीन के घर पहुंचे और डीजे बंद करने को कहा. इसी मामले में दोनों पक्षों में विवाद हुआ और पुलिस को तहररीर दी गई.

मेरठ के क्रांतिधरा में किसान महापंचायत का आयोजन, अरविंद केजरीवाल करेंगे संबोधित

अब कॉलोनी निवासी इस्लामुद्दीन, हारून, सोनू, शौकीन, शाहनवाज सहित अन्य ने 'मकान बिकाऊ है' के पर्चे चस्पा कर दिए हैं. मामले को लेकर वार्ड 81 के पार्षद शहजाद अल्वी और शाहनवाज उर्फ सोनू ने बताया की सोसायटी के कुछ लोग कॉलोनी में तालिबानी सिस्टम चला रहे हैं. वे लोगों को खुशियां भी नहीं मनाने देते. उन्होंने कहा कि वे एसएसपी से भी शिकायत करेंगे. मामले में खुशहाल कॉलोनी कमेटी के अध्यक्ष हाजी शाहिद और उपाध्यक्ष डॉक्टर अमीरुद्दीन ने बताया कि कुछ लोगों के ऐसे आरोप गलत हैं. कमेटी की ओर से कोई मनमानी नहीं की जा रही है. कुछ लोग पुलिस कार्रवाई से बचने के लिए पोस्टरबाजी का सहारा ले रहे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें