मेरठ: भ्रष्टाचार मामले में इंस्पेक्टर की हो सकती है बर्खास्तगी, जांच रिपोर्ट का इंतजार

ABHINAV AZAD, Last updated: Mon, 6th Sep 2021, 10:45 AM IST
  • पुलिस ने सदर थाने के हेड कांस्टेबल मनमोहन सिंह को 31 अगस्त को 30 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था. लेकिन मामले में उस वक्त नया मोड़ आ गया जब आरोपी कांस्टेबल ने कहा कि उसने इंस्पेक्टर सदर बिजेंद्र सिंह राणा के कहने पर ही रिश्वत लेने की बात कही. सीओ क्राइम की जांच रिपोर्ट के बाद दोनों पर गाज गिर सकती है, और दोनों की बर्खास्तगी भी हो सकती है.
सीओ क्राइम की जांच रिपोर्ट के बाद दोनों की बर्खास्तगी भी हो सकती है. (प्रतिकात्मक फोटो)

मेरठ. इंस्पेक्टर बिजेंद्र सिंह राणा और हेड कांस्टेबल पर बर्खास्तगी की कार्रवाई भी हो सकती है. दरअसल, दोनों पर भ्रष्टाचार का आरोप है और इसकी जांच चल रही है. सीओ क्राइम की जांच रिपोर्ट के बाद दोनों पर गाज गिर सकती है, और दोनों की बर्खास्तगी भी हो सकती है. बहरहाल, पुलिस दोनों के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य जुटाने में लगी है. मिली जानकारी के मुताबिक, सोमवार को मुकदमे के वादी वकार के बयान दर्ज होंगे. इस मामले में वादी तीसरी बार अपना बयान देंगे. वकार को सीओ क्राइम ऑफिस में बुलाया गया है.

मिली जानकारी के मुताबिक, जब जांच रिपोर्ट आ जाएगी उसके बाद आगे की कार्रवाई होगी. बताते चलें कि पुलिस ने सदर थाने के हेड कांस्टेबल मनमोहन सिंह को 31 अगस्त को 30 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था. लेकिन मामले में उस वक्त नया मोड़ आ गया जब आरोपी कांस्टेबल ने कहा कि उसने इंस्पेक्टर सदर बिजेंद्र सिंह राणा के कहने पर ही रिश्वत ली. दरअसल, इस मामले के बाद से पुलिस महकमे में खलबली मच गई है.

मुजफ्फरनगर महापंचायत से टिकैत का ऐलान- 27 को किसानों का भारत बंद, 9-10 सितंबर लखनऊ में मीटिंग

एसपी सिटी विनीत भटनागर के मुताबिक, फिलहाल इंस्पेक्टर के खिलाफ जांच चल रही है. साथ ही वादी के अलावा पुलिस वालों के बयान भी दर्ज किए जा रहे हैं. दरअसल, विवेचक एक के बाद एक साक्ष्य जुटाने में लगे हैं. बताया जा रहा है कि जांच रिपोर्ट के बाद इंस्पेक्टर और हेड कांस्टेबल पर बर्खास्तगी की कार्रवाई हो सकती है. इस मामले में इंस्पेक्टर वांछित है. मसलन, इंस्पेक्टर पर इनाम भी हो सकता है. एसएसपी प्रभाकर चौधरी के मुताबिक, इंस्पेक्टर पर आगे की कार्रवाई जांच रिपोर्ट के बाद ही होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें