IPL में इस मोबाइल ऐप के जरिये एक एक गेंद पर लगा लाखों करोड़ों रुपये का सट्टा

Somya Sri, Last updated: Sat, 16th Oct 2021, 11:48 AM IST
  • मेरठ के कई इलाकों में सट्टा लगाने का काम चल रहा था. सट्टेबाजी अपना स्थान भी समय समय पर बदल रहे थे. सट्टेबाज गुरु ऐप की मदद से एक एक गेंद और विकेट पर सट्टा लगा रहे थे. गुरु ऐप की खासियत है कि यह जब टीवी की स्क्रीन पर बॉलर रनअप के लिए दौड़ता है. उसी समय यह ऐप बता देता है कि गेंद पर कितनी रन बनेगी या विकेट गिरना है.
IPL में इस मोबाइल ऐप के जरिये एक एक गेंद पर लगा लाखों करोड़ों रुपये का सट्टा

मेरठ: आईपीएल के दौर में लगातार सट्टेबाजी के मामले देशभर से सामने आते हैं. पुलिस भी इन सट्टेबाजों पर नकेल कसने की पूरी कोशिश करती है. इस दौरान पुलिस को एक ऐसी जानकारी मिली है जिसकी मदद से सट्टेबाज आसानी से बेट लगा रहे थे. एक एक गेंद, विकेट पर मोबाइल की मदद से सट्टे लग रहे थे और सट्टेबाज लाखों करोड़ों रुपए कमा रहे थे.

ताजा जानकारी के मुताबिक मेरठ के कई इलाकों में सट्टा लगाने का काम चल रहा था. सट्टेबाजी अपना स्थान भी समय समय पर बदल रहे थे. सट्टा लगाने वाले लोगों को कोड में डब्बा बोला जा रहा था. सब काम मोबाइल पर हो रहा था. सट्टे का हिसाब हर रोज दोपहर में 12 बजे तक निपट रहा था. बताया जा रहा है कि अगर सट्टा लगाने वाला जीतता था तो उसे 12 बजे तक पैसा मिल जाता है और अगर वह हारता है तो उसे भी सट्टा खेलाने वाले को दोपहर 12 बजे तक पैसा हर हाल में दे देना पड़ता था.

रिमांड की पेशी से बचने के लिए कबाड़ी हाजी गल्ला ने बेहोशी का नाटक रचा, फिर हुआ...

जानकारी के मुताबिक सट्टेबाज गुरु ऐप की मदद से एक एक गेंद और विकेट पर सट्टा लगा रहे थे. गुरु ऐप की खासियत है कि यह जब टीवी की स्क्रीन पर बॉलर रनअप के लिए दौड़ता है. उसी समय यह ऐप बता देता है कि गेंद पर कितनी रन बनेगी या विकेट गिरना है. दुबई में संचालित हुई आईपीएल के बाकी बचे मैचों से मेरठ के कई स्थानों में सट्टेबाजों ने लाखों करोड़ों रुपए कमा लिए हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें