Hijab Row: अल्ला-हु-अकबर के नारे लगाने वाली लड़की को ये संगठन देगा 5 लाख का इनाम

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Wed, 9th Feb 2022, 9:33 PM IST
  • कर्नाटक के स्कूलों में लड़कियों के हिजाब पहनकर कक्षा में प्रवेश पाने को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. विवाद के बीच सोशल मीडिया पर वायरल वीडियों जिसमें हिजाबी लड़की ने अल्ला-हु-अकबर के नारे लगाते देखी गई, को जमीअत-उलेमा-ए-हिंद नाम का संगठन 5 लाख का इनाम देने का ऐलान किया है.
इस लड़की को देगा जमीअत-उलेमा-ए-हिंद संगठन 5 लाख का इनाम, फोटो: सोशल मीडिया

 मेरठ. दक्षिण भारत के राज्य कर्नाटक के स्कूलों में लड़कियों के हिजाब पहनकर आने और न आने को लेकर शुरू हुए देशव्यापी विवाद रुकने का नाम नहीं ले रहा है. इस विवाद से जुड़ा एक वीडियो सोशल माडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. वायरल वीडियों में हिजाब पहने एक लड़की अल्ला-हु-अकबर के नारे लगाते नजर आ रही है. अकेली हिजाब वाली लड़की के बहादुरी को देखकर जमीअत-उलेमा-ए-हिंद संगठन ने उसे 5 लाख रुपये देने का ऐलान किया है. संगंठन ने इसकी जानकारी अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से साझा कर दी है.

दरअसल हिजाब पहनने को लेकर हो रहे विवाद के बीच कर्नाटक के मांडया PES कॉलेज में संबंधित बीबी मुस्कान नामक हिजाबी लड़की अपना अशाइनमेंट जमा करने गई थी. वायरल वीडियों में नजर आ रहा है कि कॉलेज के आसपास मौजूद कुछ लड़के 'जय श्रीराम' के नारे लगाते हिजाब वाली अकेली लड़की को रोकने के मकसद से पीछा कर रहे हैं. मिल रही जानकारी के अनुसार, कॉलेज कैंपस में ठेरों की संख्या में मौजूद जय श्रीराम' के नारे वाले लड़को का डटकर विरोध करने वाली अकेली बहादुर हिजाबी लड़की के हिम्मत को देखकर जमीअत-उलेमा-ए-हिंद संगठन ने लड़ी को प्रोत्साहन राशि 5 लाख रुपये देने का ऐलान किया है.

बता दें कि कर्नाटक के स्कूलों में लड़कियों के हिजाब पहनकर पहुंचने पर पिछले साल के आखिरी महिने से विवाद चल रहा है. इस विवाद ने जमकर तूल नए साल के जनवरी में पकड़ लिया जब कर्नाटक के उडुपी जिले के सरकारी प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज में कुछ छात्राएं हिजाब पहनकर कक्षा में प्रवेश करने की इच्छा जताई और इस पर स्कूल प्रशासन ने प्रवेश की अनुमति देने से मना कर दिया. कॉलेज में प्रवेश से इनकार पर नाराज कुछ छात्राएं कक्षा के सामने बैठ गई. इसके बाद यहीं सें ये मामले तेजी पकड़ने लगा. मामले को लेकर उडुपी की एक छात्रा रेशमा ने कर्नाटक हाईकोर्ट में न्याय पाने के लिए याचिका दायर की है, अपनी याचिका में याचिकाकर्ता ने हिजाब पहनकर कक्षा में जाने की इजाजत मांगी है. बता दें कि मामले पर कोर्ट में सुनवाई चल रही है. बीते मंगलवार को इस पर कोर्ट ने सुनवाई हुई, मगर अंतिम फैसला नहीं आया है. बुधवार को फिर से मामले में कोर्ट में सुनवाई होने वाली है.

ओवैसी ने हिजाब वाली लड़की के बारे में ये कहा

AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने नारा लगाने वाली लड़की को बहादुर बताया है. उन्‍होंने ट्वीट कर लिखा है क‍ि मैं हिजाब वाली लड़की के मां-बाप को सलाम पेश करता हूं.

ओवैसी ने ट्वीट कर लिखा-

मांडया PES कॉलेज कर्नाटक की वह बहादुर हिजाबी लड़की 'बीबी मुस्कान' जिसने हिंदुत्व शरपसंदों का डट कर मुक़ाबला किया. मैंने मुस्कान और उनके वालिद साहब से बात की और मुस्कान की हिम्मत और जसारत की दाद दी, हौसला अफ़ज़ाई किया और कहा मुस्कान की बेबाकी को देख कर हमें भी हौसला मिला.

आगे उन्होंने लिखा- इत्तेफ़ाक़न 2018 के कर्नाटक असेंबली इंतेखाबात के दौरान जब हम JDS की ताईद कर रहे थे, तब एक प्रोग्राम में मुझे उनके वालिद से मुलाक़ात करने का मौक़ा मिला था.

मुस्कान की बेहतरीन परवरिश और तरबियत के लिए उनके वालिदैन को मुबारकबाद पेश करता हूँ.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें