युवक ने नहीं दिया किराया, तो मकान मालिक ने पत्नी और बच्चों को बना लिया बंधक

Smart News Team, Last updated: Fri, 27th Nov 2020, 8:20 PM IST
  • मेरठ: जिले में लगातार आपराधिक मामले बढ़ते जा रहे हैं. हालिया मामला, शास्त्रीनगर का है. यहां पर एक व्यक्ति ने किराया ना देने पर पत्नी व तीन मासूम बच्चों को मकान मालिक द्वारा बंधक बनाने का आरोप लगाया है.
किराया न देने पर बनाया बंधक (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मेरठ: जिले में लगातार आपराधिक मामले बढ़ते जा रहे हैं. हालिया मामला, शास्त्रीनगर का है. यहां पर एक व्यक्ति ने किराया ना देने पर पत्नी व तीन मासूम बच्चों को मकान मालिक द्वारा बंधक बनाने का आरोप लगाया है. बता दें, शास्त्रीनगर के एल ब्लाक में रहने वाले सुनील का कहना है कि उनका परिवार दारोगा स्व. प्रेम चंद यादव के मकान में रहता है. कोरोना काल में उनका काम बंद हो गया. इस कारण उनकी आर्थिक स्थिति खराब हो गई, मकान मालिक का करीब साढे़ चार हजार किराया बकाया हो गया. दो दिन पहले मकान मालिक ने उससे किराए को कहा तो वह पैसे का इंतजाम करने के लिए हापुड़ चला गया.

यूपी में शादी गाइडलाइंस उल्लंघन: वैंक्वेट हॉल, दूल्हा-दुल्हन के मां-बाप पर केस

सुनील ने बताया कि इसी दौरान मकान मालिक ने पत्‍‌नी के साथ बदसलूकी शुरू कर दी. इस पर सुनील ने अपनी पत्‍‌नी को मायके चले जाने को कहा. सुनील ने आरोप लगाया कि जब पत्‍‌नी अपनी दो मासूम बेटियों और 50 दिन के बेटे को लेकर मायके पुरानी तहसील जाने लगी तो मकान मालकिन ने दरवाजा बंद कर बाहर से कुंडी लगा दी. मुख्य गेट को यह कहते हुए बंद कर दिया कि जब तक किराए के पैसे नहीं देंगे तब तक घर से बाहर नहीं जाने दिया जाएगा. पीड़ित महिला ने पूरे मामले की जानकारी अपने नेत्रहीन पिता को दी.

वहीं, जब पिता, बेटी के पास पहुंचे, तो मकान मालिक के बेटे उमेश यादव ने नशे में महिला व नेत्रहीन पिता के साथ गाली-गलौच कर अभद्रता की. बता दें, सुनील ने इसकी शिकायत पुलिस थाने में की, हालांकि, जब उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई, तो उन्होंने डीएम के पास जाकर गुहार लगाई.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें