न्यूटीमा अस्पताल में 5 मरीज की मौत, परिजन ने ऑक्सीजन सप्लाई रुकने का लगाया आरोप

Smart News Team, Last updated: 03/05/2021 11:28 AM IST
  • मेरठ के न्यूटीम अस्पताल में पांच मरीजों की मौत से परिजनों ने अस्पताल परिसर में हंगामा कर दिया. जिसके बाद मेडिकल एवं नौचंदी थाने समेत कई अन्य थाने की पुलिस मामले को शांत कराने के लिए मौके पर पहुंची. परिजनों ने आरोप लगाया है कि ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित होने से मरीजों की मौत हुई.
न्यूटीमा अस्पताल में 5 मरीज की मौत, परिजन ने ऑक्सीजन सप्लाई रुकने का लगाया आरोप

मेरठ. रविवार को मेडिकल थाना क्षेत्र में स्थित न्यूटीम हॉस्पिटल में पांच कोरोना के मरीजों की मौत हो गई. एक साथ पांच मरीजों की मौत की खबर सुनकर गुस्साएं परिजनों ने अस्पताल में हंगामा शुरू कर दिया. वहीं दो मरीजों के परिजनों ने आरोप लगाया कि इलाज में लापरवाही और ऑक्सीजन की सप्लाई बंद होने से मरीजों की मौत हुई है. हालांकि अस्पताल के एमडी डॉ. संदीप गर्ग का कहना है कि परिजनों ने पांच लोगों की मौत का कारण ऑक्सीजन का अभाव बताया है. जबकि ऐसा नहीं है. परिजन अपनों के खोने का गम न बर्दाश्त कर पाने के कारण बेकाबू हो रहे है.

न्यूटीमा अस्पताल में रविवार की शाम को आईसीयू में एकाएक तीन मरीजों की मौत हो गई. जिसे मिलाकर एक ही दिन में दोपहर से शाम तक में पांच लोगों की मौत हो गई. जिससे हॉस्पिटल के परिसर में अफरातफरी मच गई. वहीं अस्पताल प्रशासन भी एक साथ कई मौत की सूचना पाकर सकते में आ गया. अस्पताल के स्टाफ से नाराज परिजनों ने कोहराम मचा दिया. जिसके बाद मेडिकल थाना समेत नौचंदी एवं अन्य कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची.

मेरठ: CCSU समेत सभी डिग्री कॉलेज 31 मई तक बंद, कुलपति ने घोषित किया समर वैकेशन

पुलिस फोर्स की मौजूदगी के बावजूद अस्पताल में तोड़फोड़ जारी रही. जिसके बाद कई और थानों की फोर्स को बुलाया गया. परिजनों ने आरोप लगाया कि ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने के कारण मरीजों ने तड़पना शुरू कर दिया और उनकी मौत हो गई. उन्होंने कहा कि हापुड़ निवासी 42 वर्षीय पवन वर्मा, आरके पुरम निवासी 55 वर्षीय अशोक गोयल और मुरादाबाद निवासी एक महिला ने ऑक्सीजन की सप्लाई बंद होने से दम तोड़ दिया.

UPSESSB: टीजीटी-PGT शिक्षक भर्ती में आवेदन की आखिरी तारीख फिर बढ़ी, फुल डिटेल्स

इस संबंध में सीएमओ का कहना है कि मामले की जांच जारी है. लेकिन अभी तक छानबीन में ऐसा नहीं लग रहा है. हालांकि अभी क्लीन चिट नहीं दी गई है. यह जांच का विषय है कि अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित हुई या नहीं. इस मामले में गहन जांच के बाद ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचा जा सकता है.

मेरठ सेंट्रल मार्केट व्यापार संघ के पूर्व महामंत्री विनोद अरोड़ा की कोविड से मौत

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें