मेरठ: एडीजी ने दिए निर्देश, दूसरे जिला के अपराधियों का भी होगा थानों में रिकॉर्ड

Smart News Team, Last updated: 17/10/2020 07:15 PM IST
  • मेरठ जोन के एडीजी राजीव सभरवाल ने आदेश दिए हैं कि अपराधियों और दूसरे जिले के अपराधियों का पूरा रिकॉर्ड थाने में होगा. पुलिस के अनुसार, मेरठ के 35 अपराधी दूसरे जिला में अपराध कर रहे हैं.
जिला प्रशासन ने आदेश दिए, “अब अपराधियों की पूरी जानकारी थाना स्तर पर होगी”

 मेरठ: जिला प्रशासन ने आदेश दिए हैं कि अब अपराधियों की पूरी जानकारी थाना स्तर पर होगी, वहीं दूसरे जिले के अपराधियों का रिकॉर्ड अब थानों में मिलेगा. इसके आदेश एडीजी मेरठ जोन राजीव सभरवाल ने दिए हैं. उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि सभी आठ जिलों के कप्तानों को रजिस्टर नंबर-8 में गृह जिले से दूर जाकर अपराध करने वाले और दूसरे जिले के अपराधी जो यहां अपराध करते हैं, उनका रिकॉर्ड भी दर्ज करना होगा. वहीं, एडीजी ने सख्त निर्देश दिए हैं कि जो भी थानेदार इस रजिस्टर में पूरा लेखा-जोखा नहीं रखेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

पोस्ट ऑफिस में आधार कार्ड अपडेट कराने को जुटी भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग

एडीजी ने जोन के जिले मेरठ, शामली, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बागपत, हापुड़, बुलंदशहर और गाजियाबाद के कप्तानों को निर्देश दिए हैं कि सक्रिय अपराधियों की निगरानी की जाए. बता दें, पुलिस के अनुसार, मेरठ के 35 अपराधी दूसरे जिले में अपराध कर रहे हैं. इस मामले में एडीजी मेरठ जोन राजीव सभरवाल ने गहनता से मंथन किया और उन्होंने तय किया कि थाना स्तर पर शातिर अपराधियों का रिकॉर्ड, निगरानी और गैंग की जानकारी होनी चाहिए.

राजीव सभरवाल ने कहा कि जोन के सभी थानों में मुख्य रजिस्टर नंबर-8 में 2ए और 2बी बनाए हैं. जिसमें दूसरे जिले में अपराध करने वालों का रिकॉर्ड संबंधित थानों में रहेगा अब अपराधियों पर पुलिस की पूरी निगरानी रहेगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें