मेरठ: बैकयार्ड पोल्ट्री योजना के तहत महिलाओं को मुर्गीपालन के लिए 5 हजार चूजे दिए जायेंगे

Smart News Team, Last updated: Wed, 10th Feb 2021, 9:51 AM IST
  • मुर्गी पालन को बढ़ावा देने के लिए पशुपालन विभाग महिलाओं को 5000 चूजे देगा. बैकयार्ड पोल्ट्री योजना के तहत महिलाएं मुर्गी पालन करके अपने परिवार का खर्चा चला सकती है. पहले चरण में 100 महिलाओं को इसका लाभ मिलेगा. 
मुर्गी पालन को बढ़ावा देने के लिए महिलाओं को 5 हजार चूजे दिए जायेंगे.

मेरठ: उत्तर प्रदेश पशु पालन विभाग ने बैकयार्ड पोल्ट्री योजना के तहत प्रदेश की महिलाओं को 5 हजार चूजे देने का फैसला किया है. विभाग का कहना है कि पालन पोषण से प्राप्त होने वाले अंडों को बेचकर महिलाएं स्वरोजगार शुरू कर सकती है. विभाग ने इसके लिए 200 महिलाओं का चयन किया गया है. पहले चरण में 100 महिलाओं को इस योजना का लाभ मिलेगा. अधिकारियों का कहना है कि इस योजना का लाभ गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार, जिनके पास आय का स्त्रोत नहीं हैं.

विभाग के अधिकारियों ने बताया, कि चूजे के पालन-पोषण के लिए प्रति फार्म 3000 रुपये खर्च किए जाएंगे. जिसमें लाभार्थियों को दाना और दवा भी वितरित की जाएगी. इसके अलावा 425 रुपये चूजों को रहने के लिए रहने की व्यवस्था पर खर्च किया जाएगा. ये पैसे सीधे खातें में भेजे जाएगे. साथ ही किसी बीमारियों से बचाने के लिए पशु पालन विभाग की ओर से समय-समय पर टीकाकरण भी करवाया जाएगा.

मेरठ: घर में घुसकर दबंगों ने किया हमला, परिवार में फैली दहशत

मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. अनिल कंसल ने कहा कि, मिशन शक्ति के तहत स्वयं सहायता समूह की 100 महिलाओं को पचास-पचास चूजे दिए जाएंगे. उनकी सुरक्षा को समय-समय पर टीके भी लगाए जाएंगे ताकि यह चूजे बड़े होकर उनके लिए आय का साधन बन सकें. सरकार की इस योजना से अति गरीब लोगों को रोजगार मिलेगा. बताया कि 27 फरवरी तक 5000 चूजे मेरठ पहुंच जाएंगे जिसके बाद वितरण किया जाएगा.

NH-58 पर बाइक सवार युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेजा शव

प्रदेश सरकार ने दिए आदेश, आज से खुलेंगे 9वीं से 12वीं तक के आवासीय स्कूल

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें