मेरठ: भाकियू ने यूपी-उत्तराखंड में होने वाला चक्का जाम किया रद्द

Smart News Team, Last updated: 06/02/2021 07:38 AM IST
  • कृषि कानूनों के विरोध शनिवार को होने वाले चक्काजाम को भाकियू ने रद्द कर दिया है. शुक्रवार की दोपहर भारतीय किसान यूनियन ने यह फैसला है. हांलाकि पुलिस ने इस स्थिति से निपटने के लिए सारे इंतजाम कर लिए थे. 
भाकियू ने यूपी-उत्तराखंड ने होने वाले चक्काजाम को रद्द कर दिया है. ( सांकेतिक फोटो )

मेरठ: कृषि बिलों के विरोध में भारतीय किसान यूनियन ने छह फरवरी को दोपहर 12 से 3 बजे तक 9 स्थानों पर होने वाले चक्काजाम को रद्द कर दिया है. इसमें दिल्ली-दून हाईवे, मुरादनगर-खतौली गंगनहर पटरी, मेरठ-करनाल हाईवे और मेरठ-बिजनौर हाईवे प्रमुख रूप से शामिल थे. चक्काजाम रद्द होने के बाद पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली है. जानकारी के अनुसार जाम से निपटने के लिए पुलिस सभी इतजाम कर रखे थे.

भारतीय किसान यूनियन ने छह फरवरी को मेरठ के 9 स्थानों पर चक्काजाम की रणनीति बनाई थी. जिसमें मेरठ के आसपास के हाईवे पर शनिवार दोपहर 12 से 3 बजे तक चक्काजाम का फैसला हुआ था, लेकिन शुक्रवार दोपहर बाद खबर आई कि यूपी और उत्तराखंड में होने वाला चक्काजाम रद हो गया है. चक्काजाम रद्द होने के बाद किसानों और पुलिस की तैयारी धरी रह गई. इस सूचना के बाद सबसे ज्यादा पुलिस को राहत मिली, क्योकि पुलिस ने जाम की समस्या से निपटने के लिए सारे इंतजाम कर लिए थे.

मेरठ: पुलिस और बदमाशों में हुई मुठभेड़, तीन को लगी गोली, चार दबौचे

पुलिस ने जाम की स्थिति से निपटने के लिए सांकेतिक प्वाइंट पर पुलिस, पीएसी व आरएएफ को तैनात किया था. इस स्थिति से निपटने के लिए खुद एडीजी-आईजी सुरक्षा इंतजाम का जायजा ले रहे थे. पुलिस ने आला अधिकारी ने बताया कि शनिवार को जाम की स्थिति से निपटने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों ने रणनीति बना ली थी, लेकिन चक्काजाम रद्द होने से आला अधिकारियों ने राहत की सांस ली है.

मेरठ: मुकदमे में समझौते के लिए लगाया छेड़छाड़ का आरोप, पुलिस ने किया खारिज

यूपी में इस दिन से खुल जाएंगे कक्षा 1 से 5 और 6 से 8वीं तक के स्कूल

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें