टोक्यो ओलंपिक में दिखेंगे मेरठ के खेल उपकरण, कई खिलाड़ियों ने आर्डर किए सामान

Smart News Team, Last updated: Tue, 8th Jun 2021, 1:15 PM IST
वर्ल्ड ओलंपिक संघ ने 34 कंपनियों के साथ टेनिस, कुश्ती, टेबल टेनिस, वॉलीबॉल, एथलेटिक्स जैसे अन्य खेलों के लिए स्पॉन्सर करार किया है. इनमें एक भी कंपनी भारतीय न होने के बावजूद मेरठ के स्पोर्ट्स के सामान के लिए कई भारतीय और विदेशी खिलाड़ियों ने मांग कर रहे है.
भारत के खिलाड़ी अपने स्पोर्ट्स उपकरण को एएफआई से प्रमाणित होने के बाद ही ओलंपिक में ले जा सकते हैं.(प्रतीकात्मक फोटो)

मेरठ : खेल के उपकरण बनाने में अंतरराष्ट्रीय पहचान बना चुके. मेरठ शहर का स्पोर्ट्स सामान अब आगामी टोक्यो ओलंपिक में भी अपना जलवा दिखाने को तैयार है. नेल्को इंटरनेशनल ने अभी तक चार सौ से अधिक स्पोर्ट्स सामान को भेज चुके हैं. जिसमें डिस्कस प्लेट, हैमर, जेवलिन जैसे एथलेटिक्स उपकरण शामिल है. वही विनैक्स कंपनी, एचआरएस कंपनी जैसी कंपनियों के निर्देशक खिलाड़ियों को स्टैंडर्ड खेल उपकरण भेज रहे है.

संभावित 23 जुलाई से टोक्यो ओलंपिक शुरू होगा. उसके लिए वर्ल्ड ओलंपिक संघ ने 34 कंपनियों के साथ कुश्ती टेनिस टेबल टेनिस बॉलीवुड एथलेटिक्स जैसे अन्य खेलों के लिए स्टैंडर्ड खेल सामान देने का स्पॉन्सर करार किया है. इन 34 कंपनियों में कोई भी भारतीय कंपनी नहीं है. इसके बावजूद कई टोक्यो ओलंपिक की स्पॉन्सर कंपनियां मेरठ के उपकरण के लिए कॉन्ट्रैक्ट कर रही हैं. कई स्पॉन्सर कंपनियां खिलाड़ियों के वार्म अप के लिए सामान मंगवा चुके हैं.

राहुल और प्रियंका गांधी ने BJP सरकार को घेरा, पूछा-आगरा अस्पताल में मरीजों की मौत का जिम्मेदार कौन

दरअसल ओलंपिक खेलों में इस्तेमाल किए जाने वाले स्पोर्ट्स के सामान को ओलंपिक खेले जाने वाले देश में वर्ल्ड ओलंपिक संघ अपने स्टैंडर्ड को आज करना पड़ता है. उसके बाद कुछ खेल उपकरण का प्रयोग कोई भी खिलाड़ी कर सकता है. फीफा वर्ल्ड कप के फुटबॉल के लिए ब्लेडर बनाने वाली एचआरएस कंपनी टोक्यो ओलंपिक के लिए कई गुना सामान निर्यात किया है.

विनेक्स कंपनी के निदेशक आशुतोष भल्ला ने बताया कि कृष्णा पूनिया सहित कई खिलाड़ी उनके डिस्कस ले जा चुकी हैं. वही नेल्को इंटरनेशनल के निर्देशक अंबर आनंद ने कहा कि वर्ल्ड चैंपियन स्वीडिश खिलाड़ी डेनियल स्टाहल, क्यूबन खिलाड़ी यमी परवेज तलेज, ओला स्टन इसेन, इटालियन खिलाड़ी डैजी ओसाक जैसे विश्व स्तरीय खिलाड़ियों को उपकरण भेज चुका है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें