मेरठ:कृषि अध्यादेश विरोध में किसानों ने कलेक्ट्रेट गेट पर चढ़ाया ट्रैक्टर,हंगामा

Smart News Team, Last updated: 14/09/2020 07:23 PM IST
  • कृषि अध्यादेश के विरोध में मेरठ में किसानों ने कलेक्ट्रेट पर जमकर प्रदर्शन किया. ट्रैक्टरों में सवार होकर आए किसानों ने गेट पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया. इस दौरान वहां तैनात पुलिस बल और पीएसी भी उन्हें रोकने में नाकाम रहा.
किसानों को रोकने का प्रयास करती पुलिस

मेरठ. सोमवार को मेरठ कलेक्ट्रेट गेट पर जमकर हंगामा हुआ. दरअसल किसानों ने केंद्र सरकार द्वारा लाए जा रहे कृषि अध्यादेश के विरोध में किसान ट्रैक्टरों में सवार होकर कलेक्ट्रेट गेट पर आ पहुंचे. इसके बाद उन्होंने गेट पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया. इस दौरान पुलिस और पीएसी ने किसानों को उनके ट्रैक्टरों के साथ रोकने का प्रयास भी किया. लेकिन अंत में पुलिस की घेराबंदी को तोड़ते हुए के साथ कलेक्ट्रेट में घुस गए और और वहां जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया.

कृषि अध्यादेश के विरोध में किसानों के साथ कई संगठन से जुड़े कार्यकर्ता और छात्र नेता भी आ गए. इसके बाद उन्होंने इस अध्यादेश को किसान विरोधी बताते हुए सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया. इस दौरान उन्होंने कलेक्ट्रेट में ज्ञापन भी दिया.

मेरठ: स्मार्ट मीटर लगाने के बावजूद हो रही है बिजली चोरी, पकड़ने गई टीम को घेरा

किसानों ने कृषि अध्यादेश को वापस लेने की मांग उठाई किसानों का कहना था कि अगर यह अध्यादेश पारित हो गया तो इससे देश के किसान की कमर टूट जाएगी. इससे हर जगह पूंजीपतियों का बोलबाला होगा. और कृषि उत्पादन मंडी में पूरी तरह से पूंजीपतियों का आधिपत्य हो जाएगा. इस अध्यादेश के पारित होने से किसानों से मनचाहे दाम पर फसल बेचने का अधिकार छिन जाएगा. किसानों पर तो पहले से ही गन्ना भुगतान बिजली बिल और कर्ज बढ़ोतरी का बोझ पड़ा हुआ है. लेकिन यदि यह अध्यादेश पारित हुआ तो यह किसानों पर दोहरी मार होगी. इसलिए सरकार इस अध्यादेश को वापस ले.

मेरठ: डाकघरों में विशेष अभियान के तहत खाता खोलने के लिए मनाया गया महालॉगिन डे

इससे पहले किसानों ने कलेक्ट्रेट में जबरन घुसने के लिए गेट पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया. इस दौरान गेट के पास रखी हुई कुर्सियां टूट गई. कलेक्ट्रेट में तैनात भारी फोर्स ही किसानों को रोकने में विफल रहा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें