मेरठ में वीकेंड पर शराब ठेके खुलने के खिलाफ महिलाएं सड़क पर भजन-कीर्तन को उतरीं

Smart News Team, Last updated: 08/08/2020 04:50 PM IST
  • मेरठ में शनिवार और रविवार को कोरोना लॉकडाउन के तहत बाजार बंद रखने लेकिन शराब के ठेके खोलने के खिलाफ व्यापारियों के प्रदर्शन के बाद अब महिलाएं सड़क पर उतर आई हैं.
मेरठ की औरतों को गुस्सा इस बात का है कि बाजार की बाकी दुकानें शनिवार और रविवार को बंद रखी जाती है लेकिन शराब के ठेके खोले जाते हैं.

मेरठ. कोरोना लॉकडाउन के तहत मेरठ में वीकेंड पर बाजार बंद रखने लेकिन शराब के ठेके शनिवार और रविवार को भी खोलने के खिलाफ व्यापारियों के बाद अब मेरठ की महिलाएं सड़क पर उतर आई हैं. मेरठ के जागृति विहार में महिलाओं ने शराब के ठेके के बाहर ही प्रदर्शन शुरू कर दिया और ढोल वगैरह के साथ भजन-कीर्तन शुरू कर दिया. पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाकर हटाने का प्रयास कर रहे हैं.

पूरे यूपी में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मकसद से वीकेंड यानी सैटरडे और संडे को बाजार में राशन और जरूरी दुकानों को छोड़कर बाकी दुकानें बंद रहती हैं. राशन की दुकानें भी कुछ सीमित समय के लिए सुबह में खुलती हैं लेकिन शराब के ठेके सुबह से शाम तक अपने समय से खुलते हैं. लोगों का गुस्सा इस बात को लेकर है कि बाजार की दुकानें बंद रखी जा रही हैं लेकिन शराब के ठेके खोले जा रहे हैं.

मेरठ में मिनी लॉकडाउन में शराब के ठेके खोलने के खिलाफ व्यापारियों का प्रदर्शन

मेरठ के जागृति विहार कीर्ति पैलेस में शराब का ठेका खोलने के विरोध में महिलाओं ने शनिवार को ठेके के सामने ही भजन कीर्तन शुरू कर दिया. शुक्रवार को व्यापारियों ने प्रदर्शन करके कहा था कि या तो शनिवार और रविवार मार्केट की सारी दुकानें खुलें या फिर वीकेंड पर बाकी बाजार की तरह शराब के ठेके भी बंद रहें.

मेरठ में शराब दुकान के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन 
मेरठ में शराब दुकान के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन और लोगों की भीड़
मेरठ में शराब दुकान के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें