मेरठः सरकारी भवनों में फैल रहा है कोरोना,विकास भवन के तीन कार्यालय बंद

Smart News Team, Last updated: Tue, 8th Sep 2020, 7:22 PM IST
  • मेरठ के डीआरडीए ऑफिस में एक कोरोना पॉजिटिव आने की वजह से मंगलवार को विकास भवन के तीन कार्यालय बंद रहे. सरकारी कार्यालयों में कोरोना से बचाव के नियम का पालन न करने से नए-नए केस सामने आ रहे हैं. मेरठ में हर दिन 20 से 25 कर्मचारी कोरोना के शिकार बन रहे हैं.
कोरोना केस मिलने की वजह से मंगलवार को विकास भवन परिसर के डीआएडीए, डीडीओ और डीएसटीओ कार्यालय बंद रहे

मेरठ. मेरठ के विकास भवन परिसर में स्थित जिला ग्रामीण विकास अभिकरण कार्यालय में एक कर्मचारी और सीएमओ के एसीएमओ प्रोटोकॉल के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद हड़कंप मच गया. आनन-फानन में इन कार्यालयों को सैनिटाइज कराकर बंद करा दिया गया.

कोरोना केस मिलने की वजह से मंगलवार को विकास भवन परिसर के डीआएडीए, डीडीओ और डीएसटीओ कार्यालय बंद रहे. तीनों कार्यालयों को अच्छे से सैनिटाइज करने के बाद खोला जाएगा. बताया जा रहा है कि जिला ग्रामीण विकास अभिकरण कार्यालय में कोरोना पॉजिटिव पाए गए शख्स की तबियत कई दिनों से खराब थी. इसके बावजूद वो लगातार कार्यालय आ रहा था. सोमवार को जब ज्यादा तबियत खराब हुई तो उसने कोरोना टेस्ट कराया. रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद विकास भवन के कार्यालय में हड़कंप मच गया.

मेरठ: गुलाब देकर लोगों को समझाया गया स्वच्छता का महत्व,कोरोना नियमों को भी बताया

सरकारी कार्यालयों में सोशल डिस्टेंसिंग न मानने के कारण स्थिति बिगड़ती जा रही है. हर रोज किसी न किसी सरकारी कार्यालय से कोरोना के केस सामने आ रहे हैं.

मेरठ में मर्डर: ज्वैलर की हत्या, 10 लाख कैश और 5 किलो चांदी की लूट

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, मेरठ में हर रोज कोरोना के केस बढ़ते जा रहे हैं. बीते दिन मेरठ में कोरोना के 173 नए मामले सामने आए हैं जिनमें दो लोगों की मौत भी हो चुकी है. मेरठ में अब तक एक दिन में कोरोना के सबसे ज्यादा मरीजों की पुष्टि हुई है. ऐसे में सरकारी कार्यालयों में मास्क और सैनिटाइजर को अनदेखा करने की वजह से नए मामले सामने आ रहे हैं. मेरठ में हर दिन 20 से 25 कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें