साइबर फ्रॉड अलर्ट: 10 रुपए के मोबाइल रिचार्ज के चक्कर में बैंक खाते से 2 लाख साफ

Smart News Team, Last updated: Fri, 11th Sep 2020, 6:34 PM IST
  • मेरठ की एक मस्जिद के इमाम ने 10 रुपए का रिचार्ज कराने के चक्कर में अपने 1.90 लाख रूपए गवा दिए. रिचार्ज सफल नहीं होने पर गूगल से कस्टमर केयर नंबर ढूंढ कर बात की थी.
मेरठ में 10 रुपए का रिचार्ज 1.90 लाख में पड़ा.

मेरठ. मेरठ के हाशिमपुरा स्थित काली मस्जिद के इमाम मोहम्मद उमैर ने 3 सितंबर को 10 रुपए का रिचार्ज गूगल पे से किया. रिचार्ज ना होने पर उन्होंने गूगल पर टेलीकॉम कंपनी का कस्टमर केयर नंबर सर्च किया. गूगल से लिए गए नंबर पर बातचीत शुरू हुई और 10 दिन में पैसा रिफंड होने की बात कही गई.

4 सितंबर को इमाम के पास एक कॉल आई. कॉलकर्ता ने खुद को कंपनी के नोएडा ऑफिस से बताया और पैसा रिफंड की करने की बात कहकर इमाम से 10 रुपए का रिचार्ज कराया गया. उसके बाद क्यूएस कोड एप्लीकेशन डाउनलोड करवाया. फिर गूगल पे ऑन कराया.  

मेरठ पुलिस पर आरोप, शादी का झांसा देकर रेप करने वाला का दे रही है साथ

कॉलकर्ता ने इमाम से गूगल पे में एक खाता संख्या दर्ज करवाया. इसके बाद इमाम के मोबाइल पर एक ओटीपी आया ओटीपी शेयर करते ही उनके खाते से 20,195 रुपए कट गए. कॉलकर्ता ने कहा कि पैसा रिफंड होने में दिक्कत आ रही है. ऐसा कह कर उसने दूसरे बैंक खाते में और एप्लीकेशन डाउनलोड करवाया. इस तरह दोनों खातों से 1.90 लाख निकाल लिए. बाद में जब उस नंबर की जांच की गई तो नंबर स्विच ऑफ आने लगा. 

मेरठ: बिजली चोरी की खबर पर विभाग ने सदर क्षेत्र में की छापेमारी, काटे कनेक्शन

इस मामले में सिविल लाइन थाना और साइबर सेल में शिकायत दर्ज की गई है. गूगल के सर्च इंजन में कस्टमर केयर की जगह जालसाजी के नंबर दर्ज थे. जिसकी वजह से इमाम जालसाजी के शिकार हुए. ऑनलाइन रिचार्ज के मामले में जालसाजी का ऐसा मामला नया नहीं है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें