कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी में जुटा मेरठ प्रशासन, अस्पतालों को दुरुस्त करने में लगा

Smart News Team, Last updated: Mon, 10th May 2021, 9:22 AM IST
  • मेरठ जिला प्रशासन कोरोना वायरस की तीसरे लहर से लड़ने के लिए अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाए दुरुस्त करने में लगा. वही इसको लेकर कमिश्नर और डीएम ने जिले के सांसद और विधायकों के साथ बैठक भी किया.
कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी में जुटा मेरठ प्रशासन, अस्पतालों को दुरुस्त करने में लगा

मेरठ. मेरठ प्रशासन कोरोना के बढ़ते मामले और कोविड कि तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाएं दुरुस्त करने में लग गई है. साथ ही सभी अस्पतालों को अपने यहां पर बेड की संख्या को भी बढ़ने के लिए निर्देश दिए है. जिससे संक्रमण बढ़ने पर सभी मरीजों को अस्पताल में भर्ती किया जा सके. साथ ही सभी 50 बेड वाले अस्पतालों को अपने यहां पर ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए कहा गया है. 

आपको बता दे कि कोरोना के बढ़ते मामलों और तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए शासन ने सभी जिलों को मेडिकल सुविधाएं दुरुस्त करने का आदेश दिया है. जिसके बाद कमिश्नर सुरेंद्र सिंह और डीएम के बालाजी ने मेरठ के सभी सांसद और विधायक के साथ वर्चुअल बैठक किया. जिसमे सभी से कोरोना के रोकथाम को लेकर बात भी किया और उनके सुझाव भी लिए. वही इस बैठक में सभी ने कोरोना गाइडलाइंस को सख्ती से पालन कराने की बात कही. 

फैलते कोरोना पर HC परेशान, UP सरकार से मांगी संक्रमण रोकने की योजना

वही इस बैठक में यह भी साफ किया गया कि जल्द से जल्द सभी अस्पतालों में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया जाए. साथ ही सभी जगह पर बेड की संख्या को भी बढ़ाया जाए. जिससे किसी भी मरीज को अस्पताल की चौखट से वापस नहीं जाना पड़े. भर्ती होने की व्यवस्था को सुनिश्चित किया जाए. सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट और ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की जाए. वही इस बैठक में सांसद राजेन्द्र अग्रवाल, विधायक सोमेंद्र तोमर, दिनेश खटीक, सत्यप्रकाश अग्रवाल, सतवीर त्यागी, कमिश्नर सुरेंद्र सिंह, डीएम के बालाजी, एसएसपी अजय साहनी आदि शामिल हुए.

यूपी को पहला आयुष संस्थान मिला, यहां होगा कोरोना संक्रमण का इलाज

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें