मेरठ: जिले को पोटेंशियल एक्सपोर्ट हब के रूप में किया जाएगा विकसित

Smart News Team, Last updated: Sat, 7th Nov 2020, 1:37 PM IST
प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना के तहत जिले को पोटेंशियल एक्सपोर्ट हब के रूप में विकसित किया जाएगा. इसके लिए कार्य योजना बनाई जाएगी. निर्यात को बढ़ावा देने के लिए गठित जिला स्तरीय एक्सपोर्ट प्रमोशन कमेटी की बचत भवन में बैठक हुई. यह बैठक जिलाधिकारी के निर्देश पर हुई. इस बैठक में जिला स्तरीय एक्सपोर्ट प्लान 15 नंवबर तक बनाने का फैसला लिया गया
(प्रतिकात्मक फोटो)

मेरठ- प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना के तहत जिले को पोटेंशियल एक्सपोर्ट हब के रूप में विकसित किया जाएगा. इसके लिए कार्य योजना बनाई जाएगी. निर्यात को बढ़ावा देने के लिए गठित जिला स्तरीय एक्सपोर्ट प्रमोशन कमेटी की बचत भवन में बैठक हुई. यह बैठक जिलाधिकारी के निर्देश पर हुई. इस बैठक में जिला स्तरीय एक्सपोर्ट प्लान 15 नंवबर तक बनाने का फैसला लिया गया.

मेरठ मंडल के 39 डाकघरों में आधार नामांकन और अपडेशन के लिए विशेष शिविर का आयोजन

यह बैठक मुख्य विकास अधिकारी ईशा दुहन की अध्यक्षता में हुई. उन्होंने कहा कि प्रत्येक जिले का हर उत्पाद का एक एक्सपोर्ट प्लॉन बनाया जाएगा. जनपद स्तरीय एक्सपोर्ट प्लान 15 नवंबर तक बनाने का निर्देश दिया गया. सीडीओ ने कहा कि अगर किसी को भी एक्सपोर्ट प्लान के संबंध में सुझाव देना है तो वह उद्योग विभाग की ई-मेल आईडी पर मेल कर सकते है. उन्होंने आगे कहा कि उद्योगों को बढ़ावा देना आवश्यक है.

मेरठ में कुख्‍यात बदमाश बदन सिंह बद्दो के घर पर कुर्की की कार्रवाई

संयुक्त निदेशक डीजीएफटी रमेश वर्मा ने कहा कि निर्यात को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक जनपद में उत्पादित प्रत्येक उत्पाद के लिए एक उप कमेटी बनाने की आवश्यकता है. जिसकी नियमित बैठकें हो. यह सब उप कमेटी मुख्य कमेटी को अपनी ब्यौरा देगी. उन्होंने कहा कि निर्यातकों में दक्षता और क्षमता दोनों है. बस उनको प्रोत्साहित किये जाने की आवश्यकता है. उन्होने बताया कि मेरठ में स्पोर्टस गुड्स में बीते 5 सालों में निर्यात में 21 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. जबकि जालंधर में इसी अवधि में 10.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें