मेरठ: रूपक मर्डर केस में परिजनों का धरना दूसरे दिन भी जारी

Smart News Team, Last updated: 11/08/2020 10:14 PM IST
  • मेरठ. समाजवादी पार्टी ने कहा-कार्रवाई नहीं होने पर जल्द ही अफसरों का घेराव करेगी सपा. परिजन बोरवेल से रूपक के शव के अवशेष निकलवाने की कर रहे मांग. परिजनों के घर अभी तक नहीं पहुंचा कोई अधिकारी या सत्ताधारी पार्टी का जनप्रतिनिधि.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

मेरठ। मेरठ में हुए रूपक मर्डर केस को लेकर रूपक के परिजन सोमवार को दूसरे दिन भी धरने पर बैठे रहे. इस दौरान उन्होंने भूखे प्यासे रहकर न्याय के लिए प्रदर्शन किया. परिजनों ने प्रशासन से अपने बेटे के शव के अवशेषों को बोरवेल से निकाले जाने की मांग की है.

अनशन के दो दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक रूपक के परिजनों से मिलने ना तो कोई अधिकारी पहुंचा है और ना ही कोई जनप्रतिनिधि.

बताते चलें कि मेरठ जिले के फाजलपुर के रहने वाले जसवंत के 20 वर्षीय बेटे रूपक की उसके पांच दोस्तों ने 25 जून को घर से बुलाकर हत्या कर दी. इसके बाद कुल्हाड़ी से शव के टुकड़े कर रोहटा के जिटौला गांव स्थित बोरवेल में फेंक दिया. तभी से परिजन बेटे के शव के अवशेषों को निकलवाने की मांग कर रहे हैं.

परिजनों ने कहा कि बिना अंतिम संस्कार व तेरहवीं किए कैसे उसे मुक्ति मिलेगी. परिजन दो दिन से बेटे के शव के अवशेषों की मांग के लिए धरने पर बैठे हुए हैं. लगभग डेढ़ महीने बीत जाने के बाद भी शव के अवशेष बरामद नहीं हो पाए. साथ ही ना तो अभी तक रूपक का अंतिम संस्कार हुआ है और ना ही तेरहवीं हो पाई है.

कंकरखेड़ा इंस्पेक्टर बीएस राणा ने कहा कि जिटौला गांव में बोरवेल तक सड़क बनवाने को ईंटे पहुंच गई हैं. जल्द ही इंजीनियर मौके का मुआयना कर सड़क निर्माण का कार्य शुरू कर देंगे. इसके बाद रैपिड रेल की मशीनें वहां तक पहुंच सकेंगी. तभी बोरवेल की खुदाई शुरू हो पाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें