मेरठ: गन्ना भुगतान की मांग को लेकर किसानों ने थाने का किया घेराव

Smart News Team, Last updated: 17/08/2020 09:40 PM IST
  • मेरठ, मुजफ्फरनगर , बागपत व हापुड़ सहित आसपास के जिलों में किसानों ने भुगतान की मांग को लेकर किया प्रदर्शन. प्रदर्शन के दौरान मुजफ्फरनगर में माइक को लेकर एक-दूसरे से भिड़े पदाधिकारी.
मेरठ पुलिस

मेरठ । भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अधिकांश जिलों में भुगतान को लेकर धरना प्रदर्शन किया. भारतीय किसान यूनियन मोर्चा द्वारा सभी जिलों के स्थानीय थानों व प्रशासनिक कार्यालयों का घेराव किया गया. इसी क्रम में मुजफ्फरनगर जिले के तितावी थाने का भी घेराव किया गया. इस दौरान यूनियन के पदाधिकारी माइक पर संचालन करने को लेकर आपस में ही भिड़ गए. धरने का संचालन करने को लेकर भारतीय किसान यूनियन के जिला उपाध्यक्ष प्रवीण गोलियान व जिला सचिव अमरजीत के बीच मारपीट हो गई.

धरना स्थल पर मारपीट होने से कार्यकर्ताओं में भगदड़ मच गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पदाधिकारियों को हिरासत में ले लिया. वहीं कार्यकर्ताओं ने सीओ फुगाना राम मोहन वर्मा को ज्ञापन सौंपकर धरना समाप्त किया.

मेरठ जिले के मवाना सरधना और दौराला में भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं का धरना प्रदर्शन अभी भी जारी है. यह प्रदर्शन बिजनौर जिले में भी जगह-जगह किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं द्वारा चल रहा है

हापुड़ व बुलन्दशहर में भी अलग-अलग जगहों पर कार्यकर्ता थाने के बाहर बैठकर धरना दे रहे हैं. हल्दौर में भारतीय किसान यूनियन का धरना प्रदर्शन चल रहा है. वहीं धामपुर में एसडीएम कार्यालय परिसर में भी कार्यकर्ताओं का धरना प्रदर्शन जारी है. शामली में भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता अपनी अलग-अलग मांगों को लेकर थाने का घेराव किए हुए हैं.

मेरठ, बुलंदशहर, हापुड़, मुजफ्फरनगर व बागपत सहित तमाम जिलों में भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों का कहना है कि लॉकडाउन में आर्थिक स्थिति बेहद खराब हो चुकी है. घर परिवार चलाना मुश्किल हो गया है.

गन्ना भुगतान नहीं होने से लोगों की आर्थिक स्थिति बिगड़ गई है. किसान कर्ज के बोझ के नीचे दबता चला जा रहा है. मजबूरन कई किसान आत्महत्या कर रहे हैं, जिसके चलते किसानों का सब्र टूट गया और किसानों को मजबूर हो कर धरना प्रदर्शन करना पड़ा.

भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष मनोज त्यागी ने कहा कि मंगलवार को पश्चिमी यूपी के अधिकांश जिलों में भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता थानों का पुनः घेराव करेंगे. शुगर इंडस्ट्री किसानों का हजारों करोड़ रुपए का गन्ना मूल्य का भुगतान दबाए हुए बैठी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें