पिता, बेटी और मामा साथ मिलकर चलाते थे अंतर्राज्यीय ठग गिरोह, तीनों गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: Mon, 23rd Aug 2021, 3:39 PM IST
  • मेरठ की एक युवती पिता और मामा के साथ मिलकर अंतर्राज्यीय ठग गिरोह चला रही थी। यह गिरोह दिल्ली, हरियाणा,बागपत, मेरठ, और हरियाणा में 20 से अधिक ठगी की घटनाओं को अंजाम दे चुका है। साथ ही इस गिरोह पर अब तक 15 के करीब मुकदमे दर्ज है। पुलिस ने आरोपियों को बागपत से गिरफ्तार कर लिया है।
पिता, बेटी और मामा साथ मिलकर चलाते थे अंतर्राज्यीय ठग गिरोह, तीनों गिरफ्तार

मेरठ: मेरठ की एक युवती पिता ओर मामा के साथ मिलकर अंतर्राज्यीय ठग गिरोह चला रही थी। इस गिरोह के सदस्य अलग अलग राज्य के व्यापारियों से समान मांगते थे फिर समान गायब कर देते थे। इस गिरोह में शामिल युवती को फोन करके सामान मंगवाने की जिम्मेदारी थी वहीं पिता और मामा को सामान गायब करने की।  यह अंतर्राज्यीय गिरोह दिल्ली, हरियाणा,बागपत, मेरठ, और हरियाणा में 20 से अधिक घटनाओं को अंजाम दे चुका है। साथ ही इस गिरोह पर अब तक 15 के करीब मुकदमे दर्ज है। पुलिस ने तीनों आरोपितों को बागपत से गिरफ्तार कर लिया है। 

अग्रवाल मंडी टटीरी निवासी प्रवीण कुमार जैन किराना के सामान के थोक विक्रेता है। प्रवीण कुमार जैन ने बताया की उनके पास 17 अगस्त की सुबह किसी महिला का फोन आया था। उसने अपना नाम खुशी शर्मा बताते हुए घी के दस टिन व सरसों के तेल का एक टिन बागपत में दिल्ली रोड पर भेजने को कहा था। प्रवीण कुमार जैन ने घी व तेल के टिन रिक्शा में रखवाकर लड़की द्वारा बताए गए पते पर भेज दिए थे। वहां समान उतारने समय दोनों ने  खुशी शर्मा से बात कराई और टिन को कैंटर में रखवाकर चले गए। उस महिला ने कहा कि वह दिल्ली रोड पर एक बाइक के शोरूम में है। उससे वहां आकर पैसे ले जाए। जब पैसा लेने शोरूम पहुंचे तो वहाँ खुशी शर्मा नाम की कोई महिला नहीं मिली। तब जाकर उन्हे ठगी होने का एहसास हुआ। इससे ठीक तीन दिन पहले इसी तरह बागपत के व्यापारी मानकचंद जैन से बिजली के तार की ठगी की गई थी।

नरौरा के बासी घाट पर 21 पुरोहितों की टोली कराएगी कल्याण सिंह का अंतिम संस्कार

कोतवाल अजय कुमार शर्मा के अनुसार बागपत व अग्रवाल मंडी टटीरी के व्यपारी प्रवीण कुमार जैन के शिकायत के बाद पुलिस इस गिरोह की तलाश में जुटी गई थी। तीनों को बागपत से गरिफ़्तार कर लिया गया है। तीनों से पूछताछ के बाद पता चल की तीनों एक ही परिवार के सदस्य है। उनकी पहचान मेरठ के जागृति विहार निवासी खुशबू जैन, उसके पिता अरुण जैन व मामा अजय जैन के रूप में की गई है। अभी तक तीनों मिलकर 20 से ज्यादा घटनाओं को अंजाम दे चुके है। पुलिस ने उनके पास से एक कार और  सामान बेचकर मिले 20 हजार रुपये बरामद किए है।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें