मेरठ में डॉक्टर की जगह नर्स ने करवाई डिलीवरी, फिर महिला को बंदी बनाकर की ये मांग

Smart News Team, Last updated: 09/09/2020 12:44 PM IST
  • मेरठ कमिश्नरी पर हापुर चुंगी स्थित गोहर नर्सिंग होम ने एक महिला के मृत नवजात के जन्म देने पर हॉस्पिटल ने महिला को बंदी बना लिया है और उससे तीस हजार रुपये की मांग रहा है.
मृत नवजात के साथ परिजन.

मेरठ. मेरठ के हापुर चुंगी स्थित गौहर नर्सिंग होम से मानवीयता को तार-तार कर देने वाला मामला सामने आया है. दरअसल यहां एक महिला के मृत नवजात के जन्म देने पर हॉस्पिटल ने महिला को बंदी बना लिया है और उससे तीस हजार रुपये की मांग रहा है. इसके बाद परिजन मृत नवजात को लेकर कमिश्नरी पहुंच गए और न्याय की मांग करने लगे. जानकारी के मुताबिक बुधवार सुबह गोहर नर्सिंग होम में एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया. लेकिन बताया जा रहा है कि नवजात मृत पैदा हुआ. परिजनों ने आरोप लगाया है कि दरअसल गोहर नर्सिंग होम में डिलीवरी कराने ले जाने पर वहां के डॉक्टरों ने डिलीवरी ना करा कर हॉस्पिटल के स्टाफ से डिलीवरी कराया. इससे डिलीवरी सही तरह से नहीं हुआ और इसी वजह से बच्चे की जान चली गई.

मेरठ: मॉर्निंग वॉक कर रहे जिम कोच पर बाइक सवारों ने बरसाई गोलियां, हत्या कर फरार

परिजनों ने आरोप लगाया है कि बच्चे के मरे हुए पैदा होने पर बच्चा उन्हें देकर नर्सिंग होम के स्टाफ ने उन्हें बाहर कर दिया और बच्चे की मां को हॉस्पिटल में ही बंधक बना लिया है. उनका कहना है कि हमने नर्सिंग होम को पहले ही पैसे दे दिए हैं, लेेकिन वो और 30 हजार रुपये की मांग कर रहे हैं. इसके लिए बच्चे की मां को हॉस्पिटल में बंधक बना लिया है और बच्चे को हमें देकर निकाल दिया. परिजनों ने यह भी आरोप लगाया कि बच्चे मृत है या नहीं इसकी पुष्टि के लिए जब दूसरे हॉस्पिटल का पर्चा बनाने को कहा तो उससे भी इंकार कर दिया. 

मेरठ: NCERT किताब मामले में गिरफ्तार चार आरोपियों ने लगाई जमानत की अर्जी

इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें परिवार की एक महिला मरे हुए नवजात को गोद में लिए हुए दिख रही है. नर्सिंग होम के इस अमानवीय व्यवहार को लेकर परिजन अब न्याय की मांग कर रहे हैं. इसके लिए परिजन मृत नवजात को लेकर मेरठ कमिश्नरी के सामने पहुंच गए. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें