मेरठ के सरकारी विभाग बढ़ा रहे ऊर्जा निगम पर बोझ, PVVNL भेज रहा नोटिस

Smart News Team, Last updated: 03/03/2021 12:49 PM IST
  • मेरठ में बिजली बिल के बकाए के मामले में सरकारी विभाग ही ऊर्जा निगम पर करोड़ों रुपए का बोझ डाल रहे हैं. इसके लिए अब PVVNL इन विभागों को नोटिस भेजने की कार्रवाई कर रहा है. 31 मार्च तक हर हाल में बिलों का भुगतान करना होगा.
ऊर्जा निगम पर बढ़ रहा बोझ

मेरठ: बिजली बिल के बकाए के मामले में सरकारी विभाग ही ऊर्जा निगम पर करोड़ों रुपए का बोझ डाल रहे हैं. लोक निर्माण विभाग, आबकारी विभाग और स्वास्थ्य विभाग समेत कई ऐसे विभाग हैं, जिनके बिजली बिल के भुगतान न करने से पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड पर भार बढ़ता जा रहा है. इसके लिए अब PVVNL इन विभागों को नोटिस भेजने की कार्रवाई कर रहा है.

दरअसल PVVNL ने बकाये की वसूली के लिए जिन 20 सरकारी विभागों की सूची तैयार की है, उनमें कृषि-भूमि विकास एवं जल संसाधन, कृषि तथा पशुधन, पुलिस विभाग, नागरिक सुरक्षा, चिकित्सा शिक्षा और परिवार कल्याण प्रमुख हैं. इन विभागों पर करीब 12.29 करोड़ रुपए बकाया हैं. सभी 20 विभागों को PVVNL ने नोटिस जारी किया है.

UP पंचायत चुनाव 2021: पंचायती राज विभाग ने जारी की आरक्षण की सूची

वहीं इस मामले में अधीक्षण अभियंता विजय पाल सिंह का कहना है कि PVVNL के प्रबंध निदेशक के निर्देश पर सरकारी विभागों को बिल के भुगतान के लिए नोटिस दिया जा रहा है. विभागों को 31 मार्च तक हर हाल में भुगतान करना होगा.

मेरठ सर्राफा बाजार में सोना चांदी के भाव में आई भारी कमी, आज का मंडी भाव

सभी विभागों को बिल भुगतान स्थानीय स्तर से ही होना है, जबकि नगर निगम के अंतर्गत स्ट्रीट लाइटों के बिलों का वैरीफिकेशन किया जा रहा है. वैरीफिकेशन के बाद डिमांड पोर्टल पर डाली जाएगी. ये भुगतान शासन स्तर से होता है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें