मेरठ से NCERT की डुप्लीकेट किताबों की देशभर में हो रही थी सप्लाई

Smart News Team, Last updated: 22/08/2020 08:17 AM IST
  • मेरठ से NCERT के किताबों की सप्लाई हैदराबाद, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल तक हो रही थी. एसटीएफ को इसमें कई विक्रेताओं के नाम भी मिले हैं जो जांच के दायरे में आ सकते हैं.
मेरठ से NCERT की डुप्लीकेट किताबों की देशभर में हो रही थी सप्लाई

मेेरठ. एसटीएफ को मेरठ से भारी मात्रा में NCERT के नकली किताबें मिली हैं. अब तक के जांच में पता चला है कि मेरठ से छपकर 10वीं और 12वीं की NCERT की किताबें देश भर के तमाम राज्यों में सप्लीई की जा रही थी. इसमें हैदराबाद, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल जैसे राज्य शामिल हैं. इस मामले में एसटीएफ को कई बड़े विक्रेताओं के नाम पते भी मिले हैं, जिनके यहां ये किताबें बिक रही थी. ऐसे में, ये बुकसेलर भी अब जांच के दायरे में आ सकते हैं.

मेरठ: NCERT की 35 करोड़ की डुप्लीकेट किताबें जब्त, प्रेस में लगाई आग, 12 अरेस्ट

मेरठ में परतापुर के गोदाम पर कार्रवाई के बाद एसटीएफ और पुलिस टीम मोहकमपुर में प्रिंटिंग प्रेस पर पहुंची. यहां टीम को कुछ इनवॉइस मिलींं हैं. एक इनवॉइस में दिल्ली के रोहिणी सेक्टर-11 स्थित एएस इंटरप्राइजेज का नाम लिखा हुआ है. इस इनवॉइस में वहां माल सप्लाई होना दिखाया गया है. इसी तरह इन जगहों से कुछ और किताब विक्रेताओं के नाम-पते एसटीएफ को मिल गए हैं.

लॉकडाउन में बेरोजगारों से नौकरी के नाम पर ठगी, फर्जी कंपनी का मैनेजर अरेस्ट

एसटीएफ मेरठ यूनिट के डीएसपी ब्रजेश कुमार सिंह ने बताया कि उप्र, दिल्ली, उत्तराखंड, हरियाणा, मध्य प्रदेश, पुणे, पंजाब, झारखंड, बिहार, जम्मू कश्मीर, बंगलुरू, हैदराबाद, जोधपुर, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक आदि राज्यों में बड़े पैमाने पर डुप्लीकेट किताबों की सप्लाई की रही थी. इन सबके बाकायदे  सुबूत मिले हैं. इसमें थोक और फुटकर विक्रेता भी जुड़े हुए हैं जो ज्यादा कमीशन के लालच में वह डुप्लीकेट किताबों को खरीदकर ग्राहकों को बेच रहे थे. एसटीएफ डीएसपी ब्रजेश कुमार सिंह ने बताया कि यह गोरखधंधा काफी बड़ा है.  इसलिए इसकी जांच कई विभागों को करनी होगी. इसमें भी सबसे महत्वपूर्ण काम जीएसटी विभाग का होगा. इसके लिए संबधित विभागों को पत्र लिखा जा रहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें