फर्जी दस्तावेज तैयार कर दरोगा की परीक्षा देने आया सिपाही, सॉल्वर गैंग का निकला सदस्य

Sumit Rajak, Last updated: Sun, 21st Nov 2021, 11:19 AM IST
  • यूपी पुलिस दरोगा भर्ती परीक्षाओं में सेंधमारी करने वाले सॉल्वर गैंग का सदस्य सिपाही निकला. जानी पुलिस ने आरोपी सिपाही को परीक्षा के दौरान शनिवार को गिरफ्तार किया है.एसपी देहात केशव कुमार ने कहा कि आरोपी फर्जी पहचान पत्र लेकर आईटीएम कॉलेज, थाना जानी में रामभारत पुत्र मायाराम निवासी प्रेमपुर, आनंदीपुर मतसीना फिरोजाबाद की जगह पर परीक्षा देने पहुंचा था.
प्रतीकात्मक फोटो

 मेरठः यूपी पुलिस दरोगा भर्ती परीक्षाओं में सेंधमारी करने वाले सॉल्वर गैंग का सदस्य सिपाही निकला. जानी पुलिस ने आरोपी सिपाही को परीक्षा के दौरान शनिवार को गिरफ्तार किया है. एसओजी आरोपी से फिलहाल पूछताछ कर रही है. गिरफ्तारी सिपाही अयोध्या पुलिस लाइन में की तैनाती है और वह पिछले 10 माह से अनुपस्थित चल रहा है. मेरठ पुलिस अधिकारियों ने अयोध्या पुलिस अधिकारियों को सूचना दी है.

जानी के आईटीएम कॉलेज में यूपी पुलिस दरोगा भर्ती परीक्षा के लिए लिखित परीक्षा हो रही है. परीक्षा में शनिवार को एक मुन्नाभाई पकड़ा गया. आरोपी की पहचान रविकांत निवासी कासिमपुर, थाना बलदेव मथुरा के रूप में हुई. आरोपी रविकांत अभ्यर्थी रामभारत पुत्र मायाराम निवासी प्रेमपुर, आनंदीपुर मतसीना फिरोजाबाद की जगह परीक्षा देने आया था.पूछताछ में चौंकाने वाला खुलासा हुआ. पता चला कि जिस सॉल्वर रविकांत को गिरफ्तार किया गया है. वह यूपी पुलिस में कांस्टेबल है और सॉल्वर गैंग के साथ मिलकर काम कर रहा है. आरोपी रविकांत 2019 में यूपी पुलिस में भर्ती हुआ था. वर्तमान में अयोध्या पुलिस लाइन में तैनाती है. पिछले करीब 10 माह से आरोपी गैर हाजिर चल रहा है.

CM योगी के ड्रीम प्रोजेक्ट गंगा एक्सप्रेसवे का रास्ता साफ, पर्यावरण मंत्रालय से मिली मंजूरी

पूछताछ में रविकांत ने कहा कि फिरोजाराबाद के मठसैना छड़ीछिपनी निवासी धर्मेंद्र के साथ उसका परिचय कुछ समय पूर्व हुआ था. धर्मेंद्र ने कहा कि वह सॉल्वर गैंग के साथ मिलकर काम करता है. सरकारी नौकरियों में अभ्यर्थियों की जगह सॉल्वर बैठाकर मोटी रकम वसूल लेते हैं. रवि ने बताया कि उसे भी मोटी रकम का लालच देकर धर्मेंद्र ने साथ मिला लिया. रवि ने कहा कि धर्मेंद्र के कहने पर उसके साथ काम करने लगा. इसके बाद नौकरी से अनुपस्थित होकर उसने आगरा में भगेल मंदिर सब्जी मंडी के पास एक कोचिंग सेंटर में दरोगा भर्ती परीक्षा के लिए कोचिंग शुरू की.  शुक्रवार को वह आगरा से नोएडा परीचौक पहुंचा. यहां से धर्मेंद्र अपनी कार में लेकर मेरठ पहुंचा था. उन्होंने कार में ही रात बिताई और सुबह परीक्षा देने पहुंच गया.

एसपी देहात केशव कुमार ने कहा कि आरोपी फर्जी पहचान पत्र लेकर आईटीएम कॉलेज, थाना जानी में रामभारत पुत्र मायाराम निवासी प्रेमपुर, आनंदीपुर मतसीना फिरोजाबाद की जगह पर परीक्षा देने पहुंचा था. रवि को गिरफ्तार करके मुकदमा दर्ज किया गया है. धर्मेंद्र समेत बाकी आरोपियों की तलाश में पुलिस टीम को लगाया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें