मेरठ जेल के इस कैदी ने पैरोल पर रिहाई को ठुकराया, बाहर जाने से क्यों किया इंकार

Smart News Team, Last updated: Sun, 30th May 2021, 7:14 PM IST
  • मेरठ जेल के इस कैदी ने कोरोना से डरकर पैरोल पर अपनी रिहाई को ठुकरा दिया.
मेरठ जेल के कैदी ने रिहाई से किया इंकार

मेरठ में कोविड-19 के खौफ से एक कैदी ने पैरोल पर अपनी रिहाई  से इंकार कर दिया. मेरठ के चौधरी चरण सिंह जिला जेल के कैदी को जब पैरोल पर रिहाई की खबर दी गई तो उसने कहा कि वह बाहर नहीं जाएगा बाहर कोरोना महामारी से लोग असुरक्षित हैं. बाहर मेरे जीवन को खतरा है. बता दें कि उत्तरप्रदेश की सरकार ने कोरोना की स्थिति को समझते हुए जेल के कैदियों को रिहा करने का आदेश दिया था. 

कोरोना का प्रकोप जेल के कैदियों तक भी पहुंच गय था जिसकी वजह से सरकार ने यह निर्णय लिया था कि कैदियों को पैरोल और विचाराधीन बंदियों को दो माह की अग्रिम जमानत दिया जाए. अबतक कुल 326 विचाराधीन बंदियों को जमानत पर रिहा किया गया है. वहीं 42 ऐसे कैदी हैं जिनको पैरोल पर रिहा किया गया है. 

UP Unlock: 600 मरीज लॉकडाउन छूट का बेस, ज्यादा केस तो छूट खत्म, कम तो रियायत

आशीष नाम के इस कैदी को जब पैरोल पर रिहाई दी जा रही थी तो उसने अपनी रिहाई से मना कर दिया. आशीष के ऊपर दहेज के कारण हत्या का आरोप लगा जो ट्रायल के दौरान खारिज हो गया था. लेकिन आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में उसे छह साल की सजा सुनाई गई थी. 

UP Unlock Guidelines: 600 से अधिक केस वाले जिलों में चलेगा रात का कोरोना कर्फ्यू

मार्च 2016 में आशीष को जेल हुई थी और तब से लेकर अब तक वह अपने सजा का 5 साल जेल में निकाल चुका है. जेल अधिकारी का कहना है कि आशीष ने जेल की व्यवस्था को देखकर ये फैसला लिया है. जेल में कोरोना से बचाव को लेकर सभी सुविधाएं उपलब्ध  हैं.आशीष के पक्ष को एक पत्र में लिखकर प्रशासन तक पहुंचा दिया गया है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें