मेरठ: जायदाद के लालच में कलयुगी बेटी ने अपनी मां को घर से बाहर निकाला

Smart News Team, Last updated: 18/08/2020 06:03 PM IST
  • 90 वर्षीय बुजुर्ग महिला शीला कालरा के पति अमरनाथ आजाद हिंद फौज के थे सिपाही. कलयुगी बेटी ने बैंक के कागजात के बहाने बुजुर्ग महिला के घर के दस्तावेजों पर कराएं हस्ताक्षर. वृद्ध महिला शीला कालरा ने डीएम और एसएसपी से मांगी इच्छामृत्यु
मेरठ

मेरठ: मेरठ जिले के सिविल थाना क्षेत्र अंतर्गत पांडव नगर के जी ब्लॉक में एक कलयुगी बेटी ने अपनी मां को जायदाद की लालच में घर से बाहर निकाल दिया. 90 वर्षीय वृद्ध महिला दर-दर की ठोकरें खा रही है. वृद्ध महिला ने एसएसपी और डीएम से इच्छा मृत्यु की मांग की है.

मेरठ के सिविल थाना क्षेत्र के पांडव नगर जी ब्लॉक में 90 वर्षीय शीला कालरा अपनी बेटी के साथ मकान में रहती थी. वृद्ध महिला के पति अमरनाथ की मौत हो जाने के बाद वह बिल्कुल अकेली हो गई थी. जिसके बाद उसने अपनी बेटी कृष्णा कालरा को घर बुला लिया. बेटी और उनकी मां ही इस मकान में रहती है.

शीला देवी के पति आजाद हिंद फौज में सुभाष चंद्र बोस जी के साथ सिपाही थे. उन्होंने देश की आजादी के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए. आजादी के बाद पत्नी शीला कालरा को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी कोटे से एक फ्लैट दिया गया. बुजुर्ग महिला उम्र के अंतिम पड़ाव पर पहुंचने के चलते हमेशा बीमार रहती थी.

फ्लैट में रहते हुए उसकी बेटी के मन में लालच आ गया. उसने फ्लैट को हड़पने की साजिश रची. मां के बीमार होने का फायदा उठाते हुए कलयुगी बेटी ने बैंक के कागजात पर दस्तखत कराने के बहाने बुजुर्ग महिला से घर के दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करवा लिए.

इसके बाद कुछ दिन बीतने पर उसने बुजुर्ग महिला को घर से बाहर निकाल दिया. तब से बुजुर्ग महिला घर के बाहर नीचे सड़कों पर जीवन यापन करने को मजबूर है. बेटी ने अपनी 90 वर्षीय वृद्ध मां को घर से बाहर निकाल कर कमरे में ताला लगा दिया. इसके बाद से वृद्ध महिला थाने का चक्कर लगा रही है लेकिन कोई अधिकारी महिला की नहीं सुन रहा.

मामला कोर्ट में चलने की बात कह कर पुलिस बात को टाल जाती है. पुलिस की कार्यशैली से आहत होकर बुजुर्ग महिला ने थाने के बाहर धरना प्रदर्शन करना शुरू कर दिया.

महिला का कहना है कि उसका घर उसे वापस दिलाया जाए. साथ ही महिला ने एसएसपी व डीएम से इच्छा मृत्यु की मांग की है. फिलहाल मौके पर पहुंची पुलिस धरने पर बैठी बुजुर्ग महिला को समझाने का प्रयास कर रही है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें