एडवोकेट सुसाइड केसः मेरठ में वकीलों की हड़ताल, जुलूस निकालकर ADG को सौंपा ज्ञापन

Smart News Team, Last updated: 23/02/2021 09:38 PM IST
  • मेरठ में वकील ओमकार सुसाइड केस में मंगलवार को वकीलों में आम सभी की. सभा के बाद कचहरी परिसर से एडीजी ऑफिस तक मौन जुलूस निकाला. वकीलों ने एडीजी को ज्ञापन सौंपा.
मेरठ में अधिवक्ता ओमकार सुसाइड केस में गिरफ्तारी न होने पर वकील 12 दिन से हड़ताल पर हैं.

मेरठ. मेरठ के वकील ओमकार सिंह तोमर सुसाइड केस में किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी न होने से वकीलों की हड़ताल मंगलवार को भी जारी रही. वकीलों की हड़ताल के 12वें दिन मेरठ बार और जिला बार एसोसिएशन के संयुक्त तत्वाधान में कचहरी पर पंडित नानकचंद सभागार में आम सभा बुलाई है. वकीलों ने एडीजी कार्यालय तक मौन जुलूस निकाला और एडीजी को ज्ञापन सौंपा.

वकीलों ने पुलिस की कार्यशैली पर आक्रोश जताते हुए कहा कि पुलिस अब तक विधायक समेत किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है. पुलिस सिर्फ आश्वासन दे रहे हैं. वकीलों ने मंगलवार को कचहरी परिसर में आम सभा की. जिसके बाद वकीलों ने कचहरी परिसर से मौन जूलूस निकाला. कचहरी परिसर से शुरू हुआ जुलूस एडीजी कार्यालय पहुंचा.

मेरठ में भारतीय किसान यूनियन का प्रदर्शन, बिजली विभाग के दफ्तर पर जड़ा ताला

एडीजी ऑफिस में वकीलों के एक डेलीगेशन ने तीन सूत्रीय ज्ञापन एडीजी मेरठ जोन को सौंपा है. वकीलों ने वकील ओमकार सिंह तोमर सुसाइड केस के सभी नामजद आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने, वकील के बेटों के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस लेने और पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता देने की मांग की है. इस दौरान सैकड़ों वकील मौजूद रहे हैं.

पुलिस चौकी के पास व्यापारी से गन पाइंट पर हुई लूटपाट, मामला दर्ज

इससे वकीलों ने आम सभा बुलाई थी. जिसमें कहा गया था कि यदि कोई वकील इस सभा में शामिल नहीं होता है तो उस पर 500 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा. जुर्माना न देने पर उसकी सदस्यता की खत्म कर दी जाएगी. आपको बता दें कि मेरठ के ईसापुरम के रहने वाले वकील ओमकार सिंह तोमर ने फांसी लगाकर जान दे दी थी. 

तेल के बढ़ते रेट का अनोखे अंदाज में विरोध, सपा नेता ने कन्यादान में दिया पेट्रोल

वकील ने तीन पेज के सुसाइड नोट में भाजपा विधायक दिनेश खटीक समेत कुछ लोगों पर दबाव बनाने की बात कहीं. जिसके बाद एक आरोपी ने भी सुसाइड कर ली. जिसके बाद ये मामला पेचीदा हो गया है. अभी तक पुलिस ने इस मामले में किसी को अरेस्ट नहीं किया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें