मेरठ:खटकाना पुल का रास्ता बंद होने पर गुस्साए लोगों ने किया कमिश्नरी पर प्रदर्शन

Smart News Team, Last updated: 27/08/2020 05:28 PM IST
  • सेना ने सुरक्षा का हवाला देते हुए मेरठ के खटकाना पुल को पिछले पांच महीनों से बंद कर रखा है. इससे क्षेत्र के लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. गुरुवार को गुस्साए लोगों ने कमिश्नरी पर प्रदर्शन कर पुल खोलने की मांग की.
खटकाना पुल को खोलने की मांग को लेकर कमिश्नरी पर प्रदर्शन करते क्षेत्र के लोग.

मेरठ. मेरठ के खटकाना पुल के बंद होने की वजह से क्षेत्र के लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. यह पुल पिछले 5 माह से बंद है. जानकारी के अनुसार सेना ने कोरोनावायरस संक्रमण के दौरान 22 मार्च के बाद से सुरक्षा कारणों से खटकाना पुल के रास्ते को बंद कर दिया. 

 खटकाना पुल पर गेट लगने की वजह से आजाद नगर, मीनाक्षीपुरम , खटकाना, कसेरूखेड़ा, अमहेड़ा, उल्देपुर के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है.

मेरठ में पुलिस और गोकशों के बीच मुठभेड़, आरोपी गिरफ्तार, दो जिंदा गाय बरामद

क्षेत्र के लोगों का कहना है कि इस कारण उन लोगों का आना-जाना बिल्कुल बंद हो गया है.लोग अपने घर में कैद हो गए हैं या उन्हें कई किलोमीटर दूर से सफर करना पड़ रहा है. इस वजह से क्षेत्र के लोगों में पुल के बंद होने से काफी नाराजगी है।

इसके बाद लोगों ने गुरुवार को कमिश्नरी पर प्रदर्शन किया और इस मामले में कमिश्नर के हस्तक्षेप की मांग की. साथ ही लोगों ने यह भी मांग रखी कि खटकाना पुल का रास्ता आदमी आम लोगों के लिए खोला जाए.

मेरठ : चावल के बोरों के नीचे छिपाकर उड़ीसा से ला रहे थे गांजा, तीन गिरफ्तार

गौरतलब है कि खटकाना पुल के आसपास सैन्य क्षेत्र का इलाका है. इस दौरान वहां सेना की काफी सख्ती रहती है. विगत वर्षों में भी सेना ने इस तरह से पुल के रास्ते को बंद किया है. पहले भी खटकाना पुल 5 साल के लिए बंद रहा था जिसे रक्षा मंत्री के हस्तक्षेप के बाद मई 2018 में खोला गया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें