मेरठ:सदर, सोतीगंज, भूसा मंडी में विभाग की कार्रवाई, बिजली चोरी के 35 मामले पकड़े

Smart News Team, Last updated: 05/09/2020 03:29 PM IST
  • मेरठ के 3 इलाकों में आज बिजली और विजिलेंस टीम द्वारा छापेमारी कर बिजली चोरी के 35 मामले पकड़े गए. इनमें से 10 लोग सीधे बिजली के तारों में तार डालकर बिजली चोरी कर रहे थे. विभाग ने सभी लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया है.
मेरठ के सदर,सोतीगंज और भूसा मंडी इलाकों में छापेमारी कर रही बिजली और विजिलेंस टीम

मेरठ. मेरठ के सदर, सोतीगंज ,भूसा मंडी इलाकों में लगातार बिजली चोरी की खबरें आ रही थी. इस मामले में बिजली और विजिलेंस टीम के द्वारा शनिवार तड़के इन इलाकों में छापेमारी की गई. छापेमारी की कार्रवाई से इलाके में हड़कंप मच गया. टीम के द्वारा घंटों चली कार्रवाई में 35 लोगों की बिजली चोरी पकड़ी गई.इनमें से दस लोगों को सीधे बिजली की लाइन में तार डाल कर बिजली चोरी करते पकड़ा. इन सभी लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है.

आपको बता दें कि नगरीय विद्युत वितरण खंड द्वितीय अधिशासी अभियंता सोनू रस्तोगी के निर्देशन में बिजली विजिलेंस टीमों ने शनिवार कि सुबह चार बजे से ही सदर, सोतीगंज और भूसा मंडी इलाकों में छापेमारी शुरू कर दी थी. टीमों के द्वारा करीब 3 से 4 घंटे कार्रवाई चली. छापेमारी में 35 लोगों के यहां बिजली चोरी के मामले सामने आए.

उत्तर प्रदेश महिला आयोग के व्हाट्सएप नंबर पर भी कर सकते हैं उत्पीड़न की शिकायत

अधीक्षण अभियंता शहर अशोक कुमार सिंह ने बताया कि बिजली चोरी करने के लिए हाईलाइन लॉस फीडरों पर चेकिंग और छापेमारी अभियान शुरू किया गया. जिन 35 लोगों के यहां बिजली चोरी पकड़ी गई है उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है.

स्टार्टअप इंडिया से उद्यमी बने मेरठ के आसिफ, 20 लोगों को भी दिया रोजगार

इसके अलावा अधिशासी अभियंता सोनू रस्तोगी का कहना है कि यह अभियान लगातार जारी रहेगा. तीन महीनों में हाई लाइन लॉस फीडरों पर लाइन लॉस 15 फ़ीसदी से नीचे लाना है. उन्होंने लोगों से भी अपील कि वे बिजली चोरी न करें और नियमित कनेक्शन लेकर ईमानदार उपभोक्ता बनें.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें