ठेला, रेहड़ी चलाने वालों को श्रम विभाग देगा 1 माह के लिए 1000 रुपए पोषण भत्ता

Smart News Team, Last updated: Mon, 7th Jun 2021, 3:43 PM IST
  • कोरोना की दूसरी लहर के कारण परेशानी झेल रहे दिहाड़ी मजदूरी, ई रिक्शा चालक, कामगार, नाविक हलवाई, रेहड़ी जैसे रोजाना कमाई करने वाले गरीब लोगों को 1 माह के लिए 1000 रुपए की भरण-पोषण भत्ता देने की सूची तैयार की गई है. इन सभी के अकाउंट में सीधे पैसा डाला जाएगा.
दिहाड़ी मजदूरी करने वाले गरीब लोगों के खाते में एक माह का 1000 रुपए उनके अकाउंट में डाला जाएगा. ( प्रतीकात्मक चित्र).

मेरठ. मेरठ नगर पालिका के तरफ से घर जाकर किए गए सर्वे के आधार पर ई रिक्शा चालक, रेहड़ी और खोमचा लगाने वाले जैसे 1236 लोगों को डीएम के माध्यम से उनके खाते में पैसे दिए जाएंगे. नगर पालिका भत्ता पाने वालों की लिस्ट को जल्द डीएम तक पहुंचाएगा. वही श्रम विभाग की ओर से 5906 रजिस्टर्ड दिहाड़ी मजदूर के खाते में 1000 रुपए की भरण पोषण भत्ता उनके अकाउंट में डाला जाएगा.

नगर निगम कर्मचारियों ने भरण-पोषण भत्ता को पाने वाले लोगों में पल्लेदार, नाविक, हलवाई, धोबी, मोची, कामगार, नाई, ठेला, रेहड़ी, खोमचा, पटरी दुकानदारों जैसे गरीब जरूरतमंद लोगों को शामिल किया है. शहर के करीब 5906 दिहाड़ी मजदूर श्रम विभाग के पास रजिस्टर्ड है. 

कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों को निजी स्कूल देंगे शिक्षा, मुफ्त में होगी पढ़ाई

कोरोना की दूसरी लहर के बाद लगे कर्फ्यू की वजह से कई सारे गरीब जो रोज सड़क किनारे ठेले लगा कर, छोटी दुकान लगाने वाले और दिहाड़ी मजदूरी करते थे. उनकी भरण पोषण के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ में 1 माह के लिए 1000 रुपए की भत्ता राशि देने की घोषणा किया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें