मेरठ पुलिस के डेयरी हटाओ अभियान का जोरदार विरोध, हंगामा, पांच गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 23/08/2020 03:04 PM IST
  • शहर के आबादी वाले इलाकों से मेरठ नगर निगम और पुलिस प्रशासन के डेयरी हटाओ अभियान का विरोध. डेयरी संचालकों और प्रशासन के बीच नोकझोंक में पांच लोग हिरासत में लिए गए.
मेरठ नगर निगम और पुलिस प्रशासन के डेयरी हटाओ अभियान का डेयरी संचालक विरोध कर रहे हैं.

मेरठ. रविवार को मेरठ नगर निगम और पुलिस प्रशासन संयुक्त अभियान चलाकर मकबरा घोसियान इलाके में अवैध डेयरियों को हटाने पहुंची. प्रशासन की टीम पहुंचने पर डेयरी संचालकों ने विरोध करना शुरू कर दिया जिसमें उनकी टीम से तीखी नोकझोंक हो गई. प्रशासन के काम में दखल दे रहे पांच लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. साथ ही इलाके के सभी अवैध डेयरी संचालकों को चेतावनी दी है कि सभी लोग डेयरियां खाली कर दें. कारवाई करने पहुंची टीम ने कहा कि आबादी के बीच डेयरियां नहीं चलने दिया दी जाएंगी. किसी भी हालत में हाईकोर्ट के आदेश का अनुपालन कराना है.

मेरठ: परिवार को मारने की धमकी देकर किशोरी से 7 महीने रेप, गर्भवती होने पर खुलासा

दूसरी तरफ डेयरी संचालकों का कहना है कि हाईकोर्ट ने कैटल कॉलोनी का आदेश दे रखा है, लेकिन नगर निगम और प्रशासन के अधिकारी हमारे कैटल कॉलोनी की मांग पर विचार नहीं कर रहे हैं. डेयरी संचालकों का कहना है कि नगर निगम जमीन उपलब्ध करा दे तो वह डेयरियों को कॉलोनी से बाहर ले जाने को तैयार हैं. इस नोकझोंक में प्रशासन ने पांच लोगों को हिरासत में लिया है. वहीं, समस्या का हल निकालने के लिए डेयरी संचालकों से पुलिस प्रशासन और नगर निगम के अधिकारी भी बात कर रहे हैं.

मेरठ के फरार अपराधी बदन सिंह की मदद करने वाले 5 पुलिसकर्मियों को किया सस्पेंड

गौरतलब है कि मेरठ में डेयरियों को शहर से बाहर शिफ्ट करने का विवाद 21 सालों से चला आ रहा है. सन् 1998 में ही इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आदेश दिया था कि मेरठ शहर में चल रही डेयरियों को शहर के बाहर जमीन दिया जाए. तब से ही डेयरी संचालक इसका विरोध कर रहे हैं और अब तक शहर के आबादी वाले इलाकों से डेयरी बाहर नहीं लगाए जा सकें हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें