शहर में पुलिस रही अलर्ट, मस्जिद में दुआईया जलसा हुआ

Smart News Team, Last updated: 06/12/2020 05:16 PM IST
  • शहर के विभिन्न इलाकों में चौराहों पर पुलिस और RAF तैनात थी. संदिग्ध लोगों पर पुलिस की पैनी नजर थी. पुलिस क्षेत्र अधिकारियों और थाना प्रभारी ने गस्त की. आईजी प्रवीण कुमार ने कहा कि छह दिसंबर को लेकर दोनों वर्गों के लोगों ने कोई आयोजन न करने का संकेत देकर सामाजिक समरसता को बढ़ावा दिया है.
शहर में पुलिस रही अलर्ट, मस्जिद में दुआईया जलसा हुआ

मेरठ: छह दिसंबर को लेकर शहर में पुलिस अलर्ट रही. शहर के संवेदनशील और अतिसंवेदनशील इलाकों के साथ ही मिश्रित आबादी वाले इलाकों में आरएएफ और पुलिस मुस्तैद दिखी. दूसरी ओर, गुजरी बाजार स्थित मस्जिद में दुआइयां जलसा हुआ. शहर के विभिन्न इलाकों में चौराहों पर पुलिस और RAF तैनात थी. संदिग्ध लोगों पर पुलिस की पैनी नजर थी. पुलिस क्षेत्र अधिकारियों और थाना प्रभारी ने पुलिस फोर्स के साथ गस्त की. दूसरी ओर कोतवाली क्षेत्र स्थित गुजरी बाजार मस्जिद में दुआइयां जलसा आयोजित किया गया. इसमें नायब शहर काजी जन्म राशिदीन सिद्दीकी ने दुआ कराई.

साइबर सेल व पुलिस मीडिया सेल को सक्रिय कर अफवाहों व गलत सूचनाओं का तुरंत खंडन करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. ऐसे लोगों की पहचान भी सेल करेगा, जो आपत्तिजनक पोस्ट कर समाज में विद्वेष फैलाने की साजिश रच रहे हैं. ऐसे लोगों की गिरफ्तारी के लिए अतिरिक्त टीमें लगाई गयी हैं. बम निरोधक दस्ता से होटल, सराय, धर्मशाला, रोडवेज व अन्य महत्वपूर्ण स्थानों की नियमित चेकिंग कराई जा रही है. मेरठ में पुलिकर्मियों की ड्यूटी छतों पर भी लगाई गई हैं. प्रमुख धार्मिक स्थलों व प्रतिष्ठानों पर पुलिस तैनात कर दी गयी है. आईजी रेंज प्रवीण कुमार ने मेरठ सहित पड़ोसी जिलों की पुलिस को भी सतर्क रहने व समन्वय बनाकर निगरानी करने का निर्देश दिया है.

देवर ने किया रेप और पति ने दे दिया तीन तलाक, पुलिस ने नहीं की कोई कार्रवाई

शान्ति भंग नहीं करेंगे बर्दाश्त

आईजी प्रवीण कुमार ने कहा कि छह दिसंबर को लेकर दोनों वर्गों के लोगों ने कोई आयोजन न करने का संकेत देकर सामाजिक समरसता को बढ़ावा दिया है. मेरठ की गंगा-जमुनी तहजीब का इससे बड़ा उदाहरण कुछ और नहीं हो सकता है. जोन के इस सौहार्द को कोई नुकसान पहुंचाए इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. पुलिस की तैयारी पुख्ता है. आज सुबह से ही आईजी और पुलिस अधिकारी सड़कों पर उतर गए और पैदल मार्च किया.

ट्रैक्टर ने मोपेड सवार बाप-बेटे में मारी टक्कर, हादसे में 10 वर्षीय बेटे की मौत

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें