कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों को निजी स्कूल देंगे शिक्षा, मुफ्त में होगी पढ़ाई

Smart News Team, Last updated: Mon, 7th Jun 2021, 2:14 PM IST
  • कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों को मेरठ के निजी विद्यालय मुफ्त में शिक्षा देंगे. ऐसे बच्चों को शिक्षा से वंचित न रहना पड़े. इसके लिए निजी स्कूलों ने इन्हें पढ़ाने की जिम्मेदारी ली है. 
मेरठ में निजी स्कूल कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों को देंगे मुफ्त शिक्षा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मेरठ. कोरोना की दूसरी लहर में बहुत से बच्चों ने अपने माता-पिता को इस महामारी के कारण खो दिया. ऐसे बच्चों की शिक्षा में मदद करने के लिए मेरठ के निजी स्कूलों ने अपना हाथ आगे बढ़ाएं हैं. निजी विद्यालय कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों को निशुल्क शिक्षा देंगे. ऐसे बच्चों को शिक्षा से वंचित न रहना पड़े इसलिए इनके शिक्षण की जिम्मेदारी इन प्राइवेट स्कूलों ने ली है.

बीते रविवार को निजी विद्यालय संघ की बैठक की गई थी. यह बैठक महर्षि दयानंद सरस्वती जूनियर हाईस्कूल में आयोजित की गई थी. इस बैठक में कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विचार-विमर्श किया गया. साथ ही स्कूल मैनेजमेंट से जुड़े कई विषयों पर चर्चा की गई. इस दौरान निजी विद्यालय संघ ने यह भी फैसला किया कि जिन बच्चों के माता-पिता की कोरोना काल में मौत हो गई है, उन्हें स्कूल में निशुल्क शिक्षा दी जाएगी.

अब केवल लखनऊ, मेरठ और गोरखपुर में रह गया कोरोना कर्फ्यू, बाकि जिले हुए अनलॉक

इस संबंध में मनोज अहलावत ने कहा कि ऐसे कई बच्चे है जो कोरोना काल में अनाथ हो गए है. इन बच्चों को शिक्षा से वंचित नहीं रहना पड़े, इसके लिए कई विद्यालयों ने इन बच्चों को शिक्षा ग्रहण कराने की जिम्मेदारी ली है. उन्होंने कहा कि शिक्षा सभी का अधिकार है इसलिए ऐसे बच्चों को स्कूल में मुफ्त पढ़ाया जाएगा. कोरोना काल में अनाथ होने वाले बच्चों को शिक्षित कराने की जिम्मेदारी एसडी पब्लिक स्कूल‚ एमडीएस स्कूल‚ एमपी स्कूल‚ एवरग्रीन स्कूल, तक्षशिला‚ नवज्योति विद्या मंदिर, नवजीवन पब्लिक स्कूल और स्वामी कल्याण देव पब्लिक स्कूल ने ली है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें