मेरठ: सफाई न होने से तंग आकर रिटायर्ड अफसर ने CM योगी से मांगी इच्छामृत्यु

Smart News Team, Last updated: Thu, 12th Nov 2020, 9:43 AM IST
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस दिन सत्ता में आए तभी से उन्होंने स्वच्छता पर जोर दिया. लेकिन इसका असर मेरठ में कम ही दिखता है. जिसका सीधा सा जवाब मेरठ शहर में रहने वाले सिंचाई विभाग अधिकारी ने मुख्यमंत्री से इच्छामृत्यु मांग कर दिया है. 
मेरठ में एक रिटायर्ड अफसर ने CM योगी से सफाई को लेकर इच्छामृत्यु मांगी है.

मेरठ. शहर में कूड़ा की समस्या दिनों-दिन बढ़ती ही जा रही है क्योंकि कोई इसे सुलझाने वाला नहीं है. वहीं, सिंचाई विभाग के सेवानिवृत्त अधिकारी के घर के पास भी कुछ इसी तरह का नज़ारा बन गया है जो किसी भी सफाई कर्मचारी को दिखता नहीं है. पूर्व अधिकारी ने इस बात से परेशान होकर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इच्छामृत्यु की मांग कर दी है.

बात है गंगानगर में ब्लॉक केए-137 निवासी नैपाल सिंह की जो 15 वर्ष पहले सिंचाई विभाग में अधिशासी अभियंता के पद से मुक्त हुए. वो बताते हैं कि घर से 50 मीटर की दूरी पर हमेशा कूड़े का ढेर लगा रहता है. कूड़े का ढेर अब एक विशाल रुप लेता जा रहा है. किंतु इन्हें देखने और सुनने वाला कोई भी नहीं है.

मेरठ: छत पर घेराबंदी होते देख चोरों ने ज्वैलरी-कैश से भरे दो बैग छोड़ हुए फरार

जिसके लिए नैपाल सिंह कमिश्नर, डीएम और नगर निगम से कई बार शिकायत भी कर चुके हैं. मगर हुआ कुछ नहीं और कूड़ा हर दिन फैलता चला गया. अब इसी बात की शिकायत रिटायर्ड अधिकारी ने मुख्यमंत्री से प्रार्थना पत्र के जरिए की है. जिसमें उन्होंने पिछली 57 शिकायतों के बारे में बताया है और उनकी प्रति को भी साझा किया है.

यूपी के 50 लाख युवाओं को योगी सरकार का दीवाली गिफ्ट, शुरू होगा मिशन रोजगार

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें