मेरठ: आज से उत्तराखंड के लिए चलेंगी बसें, यात्रा से पहले इन नियमों का रखे ध्यान

Smart News Team, Last updated: 01/10/2020 09:05 AM IST
  • 6 महीने बाद आज से उत्तराखंड के लिए बसें चलेंगी. यूपी और उत्तराखंड सरकार के बीच में आपसी सहमित बनने के बाद यह सेवा फिर से बहाल कर दी गई है. यात्रियों के लिए कोरोना से बचाव के जरूरी इंतजाम परिवहन विभाग ने किया है.
मेरठ: आज से उत्तराखंड के लिए चलेंगी बसें, यात्रा से पहले इन नियमों का रखे ध्यान.

 मेरठ. कोरोना काल में लंबे समय से उत्तराखंड और मेरठ के बीच  में बंद बस सेवा आज से शुरू हो गई है. यूपी और उत्तराखंड सरकार के बीच में आपसी सहमित बनने के बाद यह सेवा फिर से बहाल कर दी गई है.  दोनों राज्यों के परिवहन विभाग ने बसों के संचालन के लिए अनुमति दे दी है. इसके बाद मेरठ डिपो से बसों पर स्टाफ के ड्यूटी चार्ट को तैयार किया गया.

मेरठ डिपो के अधिकारियों ने बताया कि आज से भैंसाली बस स्टैंड से दोनों राज्यों के बीच में बस सेवा शुरू कर दी गई है. बता दें कि इसमें देहरादून की 8 बसें, हरिद्वार की एक बस, ऋषिकेश की एक बस, कोटद्वार की चार बस, कोटद्वार वाया मेरठ कौशांबी के लिए एक बस चलेगी. साथ ही सोहराब गेट से भी उत्तराखंड में हल्द्वानी और अन्य शहरों के लिए 12 बसें परिवहन विभाग चलाएगा. 

मेरठः सस्पेंड SO को SDM कोर्ट से झटका, फॉर्म हाउस पर आवेदन निरस्त, लगा जुर्माना

बताया गया है कि दिनभर में बसें 100 फेरे करेंगी. इसके अलावा उत्तराखंड की बसें भी मेरठ भैंसाली स्टैंड और सोहराब गेट स्टैंड पर 100 फेरे लगाएंगी. कोरोना काल में बसों का संचालन हो रहा है. ऐसे में यात्रियों के लिए कोरोना से बचाव के जरूरी इंतजाम परिवहन विभाग ने किया है. 

मेरठ मोटर बस यूनियन की मांग- बिना परमिट की बस हों बंद, अधिकारियों पर हो कार्रवाई

नियमों के मुताबिक, दिनभर में मेरठ की बसों के 100 से अधिक फेरे नहीं होंगे. बस में सीट की क्षमता के अनुसार यात्रियों को बैठाया जाएगा. इसके अलावा यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग भी होगी. तंबाकू के सेवन पर रोक है. सभी यात्रियों के मोबाइल में आरोग्य ऐप होना आवश्यक है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें