मेरठ: डेढ़ साल से लापता भाजपा नेता के बेटे को पुलिस ने बनारस से किया बरामद

Smart News Team, Last updated: Fri, 5th Feb 2021, 11:54 AM IST
  • भाजपा नेता के डेढ़ साल से लापता बेटे को एडीजी मेरठ की सर्विलांस टीम ने आखिकार बनारस से बरामद कर लिया. युवक यहां एक होटल पर काम कर रहा था.
डेढ़ साल से लापता BJP नेता के बेटे को पुलिस ने बनारस से किया बरामद

मेरठ: मेरठ पुलिस को एक बड़ी सफलता हासिल हुई है. भाजपा नेता के डेढ़ साल से लापता बेटे को एडीजी मेरठ की सर्विलांस टीम ने आखिकार बनारस से बरामद कर लिया. युवक यहां एक होटल पर काम कर रहा था.

भाजपा नेता विनीत अग्रवाल शारदा ने पीड़ित परिवार की मुलाकात एडीजी से कराई थी, जिसके बाद विशाल की तलाश शुरू की गई. 10 दिन में विशाल की लोकेशन ट्रेस कर ली गई. गुरुवार को विशाल अपने मेरठ स्थित आवास पर पहुंचा तो परिजनों की आंखों में खुशी के आंसू छलक पड़े. इस दौरान परिजनों ने एडीजी राजीव सबरवाल, भाजपा नेता विनीत शारदा और पुलिस का आभार जताया.

अब यूपी में रेड़ी वालों से भी लिया जाएगा यूजर चार्ज, कैबिनेट की बैठक में इसपर होगा निर्णय

आपको बता दें कि भाजपा के बूथ अध्यक्ष सौमित्र शर्मा जागृति विहार सेक्टर-5 में रहते हैं. बड़ा बेटा विशाल संगीत सीखने और गायक बनने की जिद पर अड़ा था. परिजनों ने उसे मेरठ से बाहर जाने से रोका था. इसके बावजूद अपने एक दोस्त अमन के साथ मिलकर कोलकाता की आईटीसी संगीत रिसर्च अकादमी में एडमिशन की प्लानिंग की. दोनों घर से कुछ रकम और सोने के जेवरात लेकर 20 सितंबर 2019 को फरार हो गए. अमन चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी से बीए तृतीय वर्ष की पढ़ाई कर रहा था. इसके बाद दोनों प्रयागराज तक साथ रहे. वहां से अमन वापस लौट आया. लेकिन विशाल खौफ में रहा और घर नहीं लौटा.

मेरठ सर्राफा बाजार में सोना चांदी के भाव में आई भारी कमी, आज का मंडी भाव

सौमित्र शर्मा के मुताबिक, बेटे की बरामदगी के लिए कई पुलिस अधिकारियों और मेडिकल थाने के चक्कर लगाए. आरोप लगाया कि पुलिस ने न तो अमन से पूछताछ की और न ही विशाल की बरामदगी का प्रयास किया. मामले की जानकारी होने पर भाजपा नेता विनीत शारदा सौमित्र शर्मा के घर पहुंचे और मदद का आश्वासन दिया. इसके बाद 20 जनवरी को विशाल के परिजनों की एडीजी राजीव सबरवाल से मुलाकात कराई. एडीजी ने अपनी सर्विलांस टीम को काम पर लगाया और 1 फरवरी 2021 को विशाल की लोकेशन बनारस में ट्रेस की गई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें