मेरठ: कोरोना से हुई मौतों की जांच के लिए बनाई गई विशेष टीम, सीएम ने दिया था आदेश

Smart News Team, Last updated: 12/10/2020 04:19 PM IST
  • मेरठ में कोरोना संक्रमण से हो रही मौतों के शोध के लिए फिर से एक विशेष टीम का गठन किया गया है. इसका आदेश प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया था.
कोरोना संक्रमण से हो रही मौतों के शोध के लिए फिर से एक विशेष टीम का गठन

 मेरठ: कोरोनावायरस का कहर लगातार देश में तेजी से फैलता जा रहा है. अब तक इस खतरनाक वायरस से 71 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं. इस वायरस की चपेट में आकर 1 लाख से ज्यादा लोग अपनी जान गवां चुके हैं. ऐसे में सरकार लगातार एहतियात बरतने के आदेश दे रही है. वहीं, यूपी के मेरठ में कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें अगस्त और सितंबर के महीने में हुई हैं, जिसको लेकर मेरठ प्रशासन में हड़कंप मच गया था. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद वायरस से हो रही मौतों का संज्ञान लेते हुए प्रशासन को जांच के आदेश दिये थे. बता दें, जांच को लेकर जिले में कुल 16 विशेष टीमें बनाई गई हैं.

दहेज में बाइक की डिमांड करना दूल्हे को पड़ा महंगा , लड़की वालों ने बनाया बंधक

मेरठ में कोरोना संक्रमण से हो रही मौतों के शोध के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया था. इस टीम ने जांच कर अपनी रिपोर्ट शासन को सौंपी थी. वहीं अब फिर से कोरोना से हो रहीं मौतों पर शोध के लिए विशेष टीम का गठन किया गया है. इस टीम में मेडिकल कॉलेज के कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के तीन डॉक्टर, एक अपर मुख्य चिकित्साधिकारी एवं नगर निगम के दो कर्मचारियों को शामिल किया गया है.

यह विशेष टीम पहले चरण में सितंबर महीने के आंकड़ों की समीक्षा करेगी. मेरठ जिले में कई स्थानों पर कोरोना मरीजों की ज्यादा मौत हुई है. इसके अलावा जय भीम नगर, राजेंद्र नगर एवं कैंट क्षेत्र में संक्रमण अधिक फैला है. वहीं नई टीम द्वारा समीक्षा किए जाने के बाद ही सच सामने आएगा. समीक्षा में यह देखा जाएगा कि किसी अस्पताल में लापरवाही तो नहीं की जा रही है. अगर किसी अस्पताल में लापरवाही मिली तो कार्रवाई होना तय है. एक जिले के गठित टीम में दो-दो वरिष्ठ आईएएस अधिकारी के साथ दो-दो डॉक्टर शामिल किए गए थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें