मेरठ में वाहन चोरी के सबसे बड़े बाजार सोतीगंज पर पुलिस की दबिश, वांटेड डीलरों के लगे इनामी पोस्टर

Swati Gautam, Last updated: Thu, 16th Sep 2021, 1:56 PM IST
  • उत्तर प्रदेश के मेरठ के सोतीगंज में चोरी कर वाहनों को बेचे जाने और कटान मामले में सौदागर हाजी गल्ला पर एसएसपी ने 25 हजार इनाम घोषित कर दिया है. आरोपी कई समय से फरार चल रहा है. दूसरे कबाड़ी इकबाल की तलाश में भी पुलिस लगातार दबिश दे रही है. पुलिस ने कोर्ट में आरोपियों की संपत्ति जब्त करने की भी अर्जी लगाई है.
मेरठ में वाहन चोरी के सबसे बड़े बाजार सोतीगंज पर पुलिस की दबिश, वांटेड डीलरों के लगे इनामी पोस्टर (फाइल फोटो)

मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ का सोतीगंज का नाम तो सुना ही होगा. चोरी के वाहनों को बेचने के लिए सबसे पहले मेरठ का सोतीगंज का नाम आता है. जहां केवल दिल्ली नहीं बल्कि देश के कई शहरों से चोरी की गाड़ियां लाई जाती हैं और बेच दी जाती हैं. इन धंधे के मलिन हाजी गल्ला पर आजकल पुलिस की निगाहें टिकी हुई हैं. फरार चल रहे गाड़ियों के सौदागर और गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में आरोपी बनाए गए हाजी गल्ला पर पुलिस ने 25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया है. सोतीगंज में चल रहा वाहनों के कटान का धंधा अब ज्यादा दिन नहीं टिकेगा. पुलिस ने इसमें शामिल सभी कबाड़ियों पर भी शिकंजा कस लिया है.

शहर में हर जगह हाजी गल्ला के नाम के इनामी पोस्टर लगा दिए गए हैं. बताया जा रहा है एक समय था कि हाजी गल्ला सदर थाने में बैठक चाय की चुस्कियां लगता था आज उन्हीं थानों में हाजी गल्ला वांटेड के पोस्टर छाप दिए गए हैं. यह करवाई एसएसपी प्रभाकर चौधरी द्वारा की जा रही है उन्होंने ही हाजी गल्ला पर 25 हजार का इनाम लगाया है. धंधे में शामिल एक और कबाड़ी इकबाल पर भी एएसपी की नजर है. अदालत में दोनों के खिलाफ वारंट की अर्जी लगी है. पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार अब तक चोरी के वाहनों के कटान के मामले में 14 कबाड़ियों से ज्यादा लोगों पर गैंगस्टर की कार्रवाई हो चुकी है. इस बार धंधे के सौदागर हाजी गल्ला को ही पकड़ने के लिए पुलिस दबिश दे रही है.

मेरठ: पत्नी का किसी और के साथ चल रहा था प्रेम प्रसंग, गुस्से में पति ने गर्दन काट डाली

इंस्पेक्टर ब्रिजेश कुशवाह ने बताया कि जो आरोपी फरार चल रहे हैं पुलिस ने उनकी संपत्ति कुर्क करने के लिए कोर्ट में अर्जी लगाई है. कोर्ट से आदेश मिलते ही आरोपियों की संपत्ति जब्त कर ली जाएगी. यह कदम इसलिए उठाए जा रहे हैं ताकि फरार आरोपी हाजी गल्ला और इकबाल को पकड़ने में आसानी हो सके लेकिन अब तक दोनों का कोई पता नहीं चल पाया है. पुलिस ने दोनों आरोपियों के बेटों पर भी इनाम घोषित करने की प्लानिंग बना ली है. दोनों के खिलाफ कोर्ट में वारंट की अर्जी भी लगा दी है।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें