मेरठ: मेडिकल कॉलेज से चमका देकर भागा चोर, तीन दिन पहले कराया था भर्ती

Smart News Team, Last updated: Fri, 15th Jan 2021, 3:57 PM IST
  • मेरठ के मेडिकल कॉलेज के टायलेट से एक मुल्जिम पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया. बंदी को उपचार के लिए अमरोहा पुलिस ने मेडिकल कॉलेज में तीन दिन पहले भर्ती कराया था.
मेरठ के मेडिकल कॉलेज के टायलेट से एक मुल्जिम पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया.

मेरठ:मेरठ के मेडिकल कॉलेज के टायलेट से एक मुल्जिम पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया. बंदी को उपचार के लिए अमरोहा पुलिस ने मेडिकल कॉलेज में तीन दिन पहले भर्ती कराया था. घटना के बाद सभी पुलिसकर्मियों को मेडिकल पुलिस ने हिरासत में ले लिया. साथ ही बंदी की धरपकड़ को करीब एक घटा तलाश की गई. बंदी का कोई पता नहीं चल पाया.

बता दें, अमरोहा के थाना कोतवाली क्षेत्र के घेर पठैया निवासी अरशद को गैंगस्टर एक्ट के मामले में अमरोहा पुलिस ने जेल भेजा था. अरशद पर चोरी के कई मुकदमे में दर्ज है. 12 जनवरी को अरशद को अमरोहा पुलिस ने पेट में पथरी का दर्द होने पर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया था. मेडिकल के डाक्टरों ने 13 जनवरी को अरशद का ऑपरेशन किया. उसके बाद अरशद का मेडिकल में उपचार चल रहा था. बंदी की सुरक्षा को अमरोहा से बाबू खां, राजकुमार, आंसू और संजीव राठी पुलिसकर्मी को लगाया था.

मेरठ: चाऊमीन खाने गए तीन दोस्तों को युवकों ने बेल्टों से पीटा, मामला दर्ज

गुरुवार को चारों पुलिसकर्मी अरशद को अमरोहा ले जाने के लिए मेडिकल कालेज से डिस्चार्ज करा रहे थे. तभी अरशद ने कहा कि उसे लघु शंका के लिए जाना है. चारों पुलिसकर्मी उसे शौचालय में ले गए. अरशद शौचालय के अंदर चला गया और सभी पुलिसकर्मी बाहर खड़े होकर मोबाइल पर बातचीत करने लगे. इसी का फायदा उठाकर अरशद शौचालय के दूसरे रास्ते से भाग गया. कुछ देर बाद तक अरशद के अंदर से नहीं आने पर पड़ताल की गई तो वह फरार मिला. पहले चारों पुलिसकर्मियों ने उसकी खुद ही तलाश की.बाद में मेडिकल थाने में अरशद की फरारी की सूचना दी गई. इस मामले में इंस्पेक्टर प्रमोद गौतम ने बताया कि अरशद की तलाश में पुलिस को लेकर तलाश की गई, लेकिन कुछ पता नहीं चल सका. फिलहाल अरशद की सुरक्षा में लगाए गए चारों पुलिसकर्मियों को हिरासत में लेकर अमरोहा के एसपी को मामले की जानकारी दे दी गई. बता दें कि अरशद ने चोरी की कई घटनाएं की हुई है, जो हाल में गैंगस्टर के मामले में गिरफ्तार किया गया था.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें