मेरठ में दो नाबालिग बच्चों की निर्मम हत्या, 1 किलोमीटर तक जंगल में घसीटकर शव फेंके

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Thu, 2nd Sep 2021, 9:03 AM IST
  • मेरठ में दो नाबालिग बच्चों की निर्मम हत्या कर दी. वहीं दोनों की हत्या करने के बाद हत्यारों ने उनके शव को करीब 1 किलोमीटर तक जंगल मे घसीटकर ले गए और वहां पर फेंक दिया. दोनों बच्चों के शव को पुलिस ने जंगल मे सर्च ऑपरेशन के दौरान बरामद किया है. साथ ही उनके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर जांच शुरू कर दी है.
मेरठ में दो नाबालिग बच्चों की निर्मम हत्या 1 किलोमीटर तक जंगल में घसीटकर शव फेंके

मेरठ. मेरठ में दो नाबालिग बच्चों के हत्या का मामला सामने आया है. जिसमें दो दोनों बच्चों की हत्या करके जंगल मे एक किलोमीटर तक घसीटकर फेंक दिए गए थे. जिससे लोगों को इन दोनों बच्चों के शव नहीं मिल सके. वहीं इन दोनों की तलाश में लगी मेरठ पुलिस की टीम ने रविवार को फतेहपुर नारायण गांव के जंगलों में रविवार को संदिग्ध अवस्था पाया. दोनों बच्चों के शव बरामद होने के बाद तत्काल इनकी शिनाख्त कराकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया. 

जानकारी के अनुसार दोनों बच्चों के मिले शव की पहचान शाहजहांपुर के निवासी जनेआलम का बेटा सादिक और उसके दोस्त अमान के रूप में हुई है. जिनके बारे में बताया जा रहा है कि दोनों बच्चे साथ मे ई-रिक्शा लेकर घूमने निकले थे. जब दोनों देर शाम तक घर वापस नहीं लौटे तो परिवार वालों ने उन्हें फोन किया. जिसपर सादिक ने जल्द घर वापस आने का मैसेज सेंड किया था, लेकिन दोनों देर रात तक घर वापस नहीं लौटे. जिसके बाद दोनों बच्चों के परिजनों ने पुलिस थाने में सूचना दी. 

मेरठ: हुड़दंग मचाने पर दारोगा ने कर दी बीजेपी नेता के बेटों की पिटाई, कार्रवाई की उठी मांग

पुलिस दोनों की बच्चों की गुमसुदगी की सूचना पर सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया. जिसके बाद रविवार की सुबह दोनों के शव जंगल में मिले. पुलिस के अनुसार दोनों बच्चों के शव पर काफी जख्म के निशान थे. जिसे देखकर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि दोनों की हत्या करने से पहले काफी टॉर्चर किया गया होगा. साथ ही पुलिस ने यह भी बताया कि दोनों की हत्या किसी धारदार हथियार से की गई है. 

इतना ही नहीं दोनों के शव के पास ई-रिक्शा नहीं मिला. जिसपर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि ई-रिक्शा लूटने के उद्देश्य से दोनों की हत्या की गई होगी. हालांकि पुलिस इस एंगल को दरकिनार कर रही है. उनका कहना है कि दोनों को सड़क से करीब 1 किलोमीटर तक घसीट कर जंगल में लाया गया है. इस घटना में लूट जैसा कोई ऐंगल नहीं दिखता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें