मेरठ: युवक को छोड़ने के एवज में सिपाही पर लगा 20 हजार की रिश्वत लेने का आरोप, विभागीय जांच शुरू

Haimendra Singh, Last updated: Mon, 15th Nov 2021, 11:19 AM IST
  • मेरठ में एक सिपाही पर एक युवक को छोड़ने के बदलने 20 हजार रुपए की रिश्वत लेने का आरोप लगा है. परिवार ने रिश्वत लेते समय का वीडियो होने का भी दावा किया है. पुलिस के अलावा अधिकारियों ने सिपाही को चौकी से हटाकर थाने में अटैच कर दिया है. मामले की जांच की जा रही है.
मेरठ में सिपाही पर लगा 20 हजार की घूस लेने का आरोप.( सांकेतिक फोटो )

मेरठ. मेरठ में यूपी पुलिस के सिपाही का वीडियो वायरल होने की बात सामने आ रही है, जिसमें एक पुलिसकर्मी व्यक्ति से पैसे लेते देखा जा रहा है. पीड़ित परिवार ने वीडियो के आधार पर मुख्यमंत्री और वरिष्ठ अधिकारी से आरोपी सिपाही के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. परिवार के शिकायते के बाद सिपाही को कप्तान ने सीओ को मामले की जांच सौंप दी है. मामला दो पड़ोसियों को झगड़े का बताया जा रहा है जिसमें सिपाही एक पक्ष को युवक को पकड़कर ले जा रहा था, बाद में 20 हजार रुपए देकर युवक को छोड़ने की बाते सामने आई. वायरल वीडियो कुछ दिनों पहले का बताया जा रहा है. पुलिस अधिकारी मामले की जांच में जुट गए है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मेरठ के लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र की समर गार्डन कालोनी रहने वाले दो परिवारों को किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था जिसके बाद एक युवक को पुलिस पकड़कर थाने ले गई. पकड़ने गए युवक के परिवार ने आरोप लगाया कि थाने से छोड़ने के एवज में परिवार से पैसे लिए गए, लेकिन बाद में युवक को जेल भेज दिया गया. कुछ दिन पहले युवक जेल से छूटकर बाहर आ गया. परिवार के अनुसार, करीब एक सप्ताह पहले चौकी पर तैनात सिपाही ललित आया और युवक को पकड़कर ले जाने लगा. सिपाही ने लड़के को छोड़ने के एवज में 20 हजार रुपये की मांग की. शाम में जब सिपाही पैसे लेने आया तो परिवार ने उसका वीडियो बना लिया.

पुलिस हो गई नाकाम तो दुकानदार ने चोर को पकड़ने का उठाया बीड़ा, रखा इतने लाख का इनाम

वीडियो के आधार पर परिवार ने पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से सिपाही की शिकायत कर दी. परिवार ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मामले की शिकायत करने की बात कही है. मामले की जांच सीओ अरविंद चौरसिया को दी गई है. फिलहाल के लिए सिपाही को चौकी से हटाकर थाना में अटैच कर दिया गया. है. पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया है कि शिकायत का पता चलने का बाद आरोपी सिपाही पीड़ित परिवार को धमकियां दे रहा है. शिकायत वापस नहीं लेने पर अंजाम भुगतने की धमकी भी दी गई है. वहीं सीओ ने कहा कि किसी को डरने की जरूरत नहीं है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें