मेरठ: कैंट बोर्ड दफ्तर पर महिला ने की आत्मदाह की कोशिश, सुनवाई न होने का आरोप

Smart News Team, Last updated: 02/09/2020 07:01 AM IST
  • कैंट बोर्ड दफ्तर पर महिला ने शिकायत पर सुनवाई न होने से क्षुब्ध आकर आत्मदाह का प्रयास किया. वहां मौजूद मीडियाकर्मियों ने महिला को आग लगाने से रोक दिया.
कैंट बोर्ड दफ्तर पर महिला ने शिकायत पर सुनवाई न होने से क्षुब्ध आकर आत्मदाह का प्रयास किया.

मेरठ. कैंट बोर्ड दफ्तर में एक महिला ने आत्मदाह का प्रयास किया. मेरठ के लालकुर्ती बकरी की रहने वाली महिला ने शिकायत पर सुनवाई न होने से क्षुब्ध आकर खुद के ऊपर पेट्रोल उड़ेल लिया. मौके पर मौजूद मीडियाकर्मियों ने महिला को आग लगाने से रोक दिया. घटना स्थल पर आफरी-तफरी मच गई. इसके बाद कैंट दफ्तर के कर्मचारी ने महिला को कार्यालय ले गए, जहां अधिकारियों ने महिला को मदद का आश्वासन दिया. बताया जा रहा है कि आश्वासन के बाद महिला वापस अपने घर चली गई.

मेरठ के लालकुर्ती बकरी निवासी परवीन ने अपनी शिकायत की सुनवाई न होने पर मेरठ स्थित कैंट बोर्ड के अधिकारियों और कर्मचारियों पर मिलीभगत करने का आरोप लगाया. पीड़ित महिला ने बताया कि वह इलाके में कई वर्षों से किराए के मकान पर रह रही है.

मेरठ में पुलिकर्मी ने थाने की बिल्डिंग से छलांग लगाकर की खुदकुशी

 महिला ने आरोप लगाया कि उसके रिश्तेदार कमरा और रसोई तोड़कर अवैध रूप से निर्माण काम करा रहे हैं. ऐसे परिस्थिति में महिला के पास रहने के लिए घर नहीं है.

परवीन ने बताया कि इसको लेकर 20  दिन पहले कैंट बोर्ड में शिकायत की थी, लेकिन किसी भी तरह की सुनवाई नहीं हुई. जबकि लगातार अवैध निर्माण का काम चल रहा है. शिकायत की सुनवाई नहीं होने पर कैंट बोर्ड दफ्तर पर महिला अपने साथ पेट्रोल की बोतल ले गई, वहां उसने पेट्रोल से भरी बोतल खुद पर उलट ली. इसके बाद माचिस जला ली. 

मेरठ एक्सप्रेसवे : 31 दिसंबर तक कैसे पूरा होगा काम, दिल्ली में बनेगी रणनीति

इसी दौरान मौके पर मौजूद मीडिया कर्मियों ने उसे रोक लिया. कैंट बोर्ड कर्मचारी बाहर आ गए. उन्होंने महिला को समझाया. इसके बाद महिला को अफसरों से मिलाने के लिए कैंट बोर्ड कर्मचारी ले गए. जहां महिला को आश्वासन दिया गया. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें