मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर 75 दिन में 42 हादसे, 24 की मौत, NHAI का फैसला, हाइवे पर तैनात होंगे मार्शल

Smart News Team, Last updated: Sun, 12th Sep 2021, 2:19 PM IST
  • मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर गाड़ियों की हाई स्पीड और गलत डायरेक्शन में चलने की वजह से पिछले 75 दिनों में 42 सड़क हादसे में 24 की मौत हो गई और बड़ी संख्या में लोग घायल हुए हैं. इन पर लगाम लगाने के लिए एनएचएआई ने फैसला लिया है कि डासना से मेरठ जाने वाली एनएचएआई खंड-4 पर 10 मार्शल तैनात किए जायेंगे. 
मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर 75 दिन में 42 हादसे, 24 की मौत, NHAI का फैसला, हाइवे पर तैनात होंगे मार्शल (फाइल फोटो)

मेरठ: दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर तेजी से बढ़ते एक्सीडेंट्स के मामलों को रोकने के लिए नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) और ट्रैफिक पुलिस ने बड़ा फैसला किया है. इस फैसले के बाद डासना से मेरठ जाने वाली एनएचएआई खंड-4 पर 10 मार्शल तैनात किए जा रहे हैं. इसके आलावा एक्सप्रेस-वे पर उल्टी दिशा में कोई भी गाड़ी न चलाने की हिदायत मिली है. इसकी निगरानी के लिए हाई-वे से उतरने और चढ़ने वाले रास्तों पर मार्शल तैनात किए जाएंगें. इस संबंध मे ट्रैफिक पुलिस को पत्र के माध्यम से सूचना दे दी है.

पिछले ढाई महिने में 42 एक्सीडेंट्स

आकड़े बताते हैं कि मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर ढाई महीनें यानि सिर्फ 75 दिन के अंदर 42 एक्सीडेंट्स हुए हैं. इन सड़क हादसों में 24 लोगों की मौत हो चुकी है और बड़ी संख्या में लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं. अभी बीते सोमवार ही एक ट्रक हादसे में 5 लोगों के मौत की खबर आयी थी.

बकाया गन्ना मूल्य को लेकर CM योगी सख्त, जल्द से जल्द भुगतान का दिया आदेश

ये है हादसों की वजह

बता दें कि मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर हाई स्पीड अनियंत्रित और गलत डायरेक्शन में गाड़ियों के चलने की वजह से एक्सीडेंट्स होते हैं. इन हादसों को देख इस पर लगाम लगाने के लिए एनएचएआई ने फैसला किया है. एनएचएआई के परियोजना निदेशक के मुताबिक एनएचएआई खंड-4 पर सबसे ज्यादा एक्सीडेंट होने के मामलें सामने आए हैं. इसलिए डासना से मेरठ तक अगले 10 दिनों में 10 मार्शल तैनात किए जाने का फैसला लिया गया हैं. ये मार्शल रास्ते से भटके ड्राइवरों की मदद भी करेंगे.

राजस्थान: पैसे ऐंठने के लिए लगाया गैंगरेप का झूठा आरोप, मास्टरमाइंड फरार, 2 अरेस्ट

भारी संख्या में प्रतिबंधित वाहनों पर लगाम लगाने से कम होंगे सड़क हादसे

बता दें कि मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर दो और तीन पहिया वाहन प्रतिबंधित हैं, लेकिन नियमों का उल्लंघन कर बेपरवाह वाहनचालक अपनी गाड़ियों को हाई-वे पर चला रहे हैं. ऐसे में ट्रैफिक पुलिस सख्ती दिखाए तो इन हादसों में जरूर कमी आएगी. इसके आलावा सभी टोल प्लाजा कर्मचारियों को आदेश दे दिया जाए कि सभी प्रतिबंधित गाड़ियों पर हर हाल में रोक लगाई जाए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें