जब मैंने उनसे कहा कि हमारे 500 लोग मर गए तो PM ने कहा क्या मेरे लिए मरे: सत्यपाल मलिक

Swati Gautam, Last updated: Mon, 3rd Jan 2022, 3:12 PM IST
  • मेघालय के गवर्नर सत्यपाल मलिक कृषि कानूनों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि पीएम से मैं मिलने गया तो वो बहुत घमंड में थे, मेरा उनसे झगड़ा हो गया. सत्यपाल मलिक ने बताया कि जब उन्होंने पीएम मोदी से कहा कि किसान आंदोलन में 500 लोग मर गए हैं, तो उन्होंने कहा- मेरे लिए मरे हैं.
मेघालय के गवर्नर सत्यपाल मलिक

मेरठ. मेघालय के गवर्नर सत्यपाल मलिक कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार की आलोचना को लेकर चर्चा में रहते हैं. एक बार फिर से उन्होंने सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है. हरियाणा के दादरी स्थित स्वामी दयाल धाम में माथा टेकने पहुंचे मलिक ने कहा कि पीएम से मैं मिलने गया तो वो बहुत घमंड में थे, मेरा उनसे झगड़ा हो गया. सत्यपाल मलिक ने बताया कि जब उन्होंने पीएम मोदी से कहा कि किसान आंदोलन में 500 लोग मर गए हैं, तो उन्होंने कहा- मेरे लिए मरे हैं. सत्यपाल मलिक के इन बयानों की वीडियो भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है.

खबरों के मुताबिक, सत्यपाल मलिक का यह वीडियो हरियाणा के चरखी दादरी के एक कार्यक्रम का है. इसमें सत्यपाल मलिक कहते हैं, 'मैं जब किसानों के मामले में प्रधानमंत्री से मिलने गया तो मेरी पांच मिनट में उनसे लड़ाई हो गई. वो बहुत घमंड में थे. जब मैंने उनसे कहा कि हमारे 500 लोग मर गए, तो वह बोले कि मेरे लिए मरे हैं? मैंने कहा आपके लिए ही तो मरे हैं, जो आप राजा बने हुए हो उनकी वजह से. मेरा झगड़ा हो गया. उन्होंने कहा अब आप अमित शाह से मिल लो. फिर मैं अमित शाह से मिला.

लखीमपुर खीरी हिंसा मामलाः SIT ने दायर की 5000 पन्नों की चार्जशीट, 14 के नाम शामिल

गवर्नर सत्यपाल मलिक ने कहा कि जब वे गृह मंत्री अमित शाह से मिले तो उनका कहना था कि किसान आंदोलन को लेकर PM को गलत फीडबैक दिया गया है. उन्होंने आगे कहा कि तुम बेफिक्र रहो, मिलते रहो. किसी न किसी दिन उन्हें यह बात समझ आ जाएगी. इतना ही नहीं मालिक ने आगे कहा कि किसान आंदोलन अभी खत्म नहीं, बल्कि स्थगित हुआ है. किसानों के साथ कोई नाइंसाफी या अत्याचार हुआ, तो यह दोबारा शुरू हो सकता है. उन्होंने आगे कहा कि किसानों के लिए जरूरत पड़ी, तो वे गवर्नर का पद छोड़ने के लिए तैयार हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें